DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छे दिन दिखाना है तो कर्जा माफ हो: अजित सिंह

राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया चौधरी अजित सिंह ने कहा कि मोदी जी अच्छे दिन दिखाना चाहते हैं तो किसानों का कर्जा माफ करें। वर्तमान में बुन्देलखण्ड का किसान ओला-आंधी, पानी जैसी आपदाओं से जूझ रहा है। कई किसानों ने आत्महत्याएं कर ली हैं। लेकिन केंद्र में मोदी सरकार अच्छे दिन का ढिंढोरा पीट रही है। चौधरी अजित सिंह मंगलवार को श्रीकृष्ण आदर्श इंटर कॉलेज बड़ागांव में किसान संवाद रैली में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि कुदरत के कहर से अबकी बुन्देलखण्ड के किसानों की गेहूं, चना, सरसों के अलावा आम जैसी फसलें उजड़ गई हैं, जिससे पैसों के लिए अब किसान इधर-उधर भटक रहा है। समय पर मुआवजा भी नहीं मिल रहा। इससे किसान आत्महत्या करने को मजबूर है। केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा प्रति हेक्टेयर 18000 रुपए मुआवजा मिलना था। लेकिन लेखपाल को पैसा दो तो नुकसान की रिपोर्ट शासन को जाएगी। कहा कि कायदे से 27000 रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा मिलना चाहिए।
 
बेईमान हैं सरकारें
रालोद सुप्रीम अजित सिंह ने कहा कि प्रदेश में साढे़ चार लोग ही सरकार चला रहे हैं। यह सरकारें बहुत बेईमान हैं। यह किसानों का भला नहीं कर सकतीं? कस्बा, गांवों के बाजारों की रौनक जा चुकी है। किसान के पास पैसा नहीं है। वह इधर-उधर भटक रहा है।

किसान कायर नहीं
किसान संवाद रैली में अजित सिंह बोले कि मोदी की सरकार होने से कोई फर्क नहीं पड़ा है। आत्महत्या करने वाला किसान कायर नहीं है? किसानों की आवाज को बुलंद करने के लिए ही हमने लोकदल बनाया है।

25 को डीएम को घेरेंगे
किसान संवाद रैली के दौरान पूर्व सिंचाई मंत्री और राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चौहान और प्रदेश सचिव अशोक निरंजन ने कहा कि किसानों की समस्याओं को लेकर 25 जून को कार्यकर्ता जिलाधिकारी से मिलेंगे। इस दौरान किसानों के मुआवजा सहित अन्य समस्याएं उठाई जाएंगी। उन्होंने 25 जून को जिलाधिकारी का घेराव किया जाएगा। घेराव रालोद कार्यकर्ता और किसान करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अच्छे दिन दिखाना है तो कर्जा माफ हो: अजित सिंह