DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेडिकल प्रवेश परीक्षा में धांधली की जांच करेंगे पूर्व जज इम्तियाज मुर्तजा

एएमयू की मेडिकल प्रवेश परीक्षा में धांधली की जांच के लिए वीसी जमीरउद्दीन शाह ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के पूर्व न्यायाधीश इम्तियाज मुर्तजा की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी है। कमेटी 20 जून तक जांच रिपोर्ट वीसी को सौंपेगी।

देश के 11 शहरों में गत 26 अप्रैल को एमबीबीएस की 145 और बीडीएस की 35 सीटों के लिए एएमयू की मेडिकल प्रवेश परीक्षा हुई थी। इसमें 41,188 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परिणाम तैयार करते वक्त विश्लेषण करने पर केरल के कोझीकोड़ जिले में फारुख कॉलेज में बनाए केंद्र पर धांधली की आशंका हुई।

इस केंद्र से एमबीबीएस में 35 और बीडीएस में 13 अभ्यर्थियों को क्वालिफाई पाया गया। यही नहीं टॉप 100 वेटिंग लिस्ट में एमबीबीएस के लिए इस केंद्र के 11 अभ्यर्थी शामिल थे। बीडीएस में भी यही हाल था। इसे देखते हुए एग्जीक्यूटिव काउंसिल की अनुमति पर तीन सदस्यीय प्राथमिक जांच समिति गठित की गई। उसकी सिफारिश पर 28 मई को परीक्षा रद्द कर दी गई थी।

उसी वक्त वीसी जमीरउद्दीन शाह ने घोषित किया था कि वह धांधली की जांच हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली कमेटी से कराएंगे। मंगलवार को वीसी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ  बेंच के पूर्व न्यायाधीश इम्तियाज मुर्तजा की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी।

उसमें हैदराबाद की मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी प्रो. मोहम्मद मियां और नलसार यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ के वीसी प्रा. फैजान मुस्तफा को सदस्य बनाया गया है। कमेटी जांच करेगी कि प्रवेश परीक्षा में कहीं नियमों का उल्लंघन तो नहीं हुआ। कोझीकोड़ केंद्र पर अनियमितता और उसमें शामिल व्यक्तियों को भी चिन्हित करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेडिकल प्रवेश परीक्षा में धांधली की जांच करेंगे पूर्व जज इम्तियाज मुर्तजा