DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएसएलएल अधिकारी बन हरियाणा के डॉक्टर से ठगे दस लाख

हरियाणा में तीन दिन पूर्व हुए दस लाख की ठगी के तार रुद्रपुर से जुड़ रहे हैं। सोमवार को एक आरोपित को लेकर हरियाणा पुलिस रुद्रपुर पहुंची। लेकिन तीन अन्य आरोपित उसके हाथ नहीं लग सके। हरियाणा में एक डाक्टर के साथ 10 लाख रुपए की ठगी हुई है।

सोमवार दोपहर करीब एक बजे हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर गुरदयाल सिंह व एसआई सुरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की टीम रुद्रपुर कोतवाली पहुंची। टीम के साथ रुद्रपुर क्षेत्र के महेशपुर गांव निवासी उमेश प्रजापति भी हथकड़ी में था। इंस्पेक्टर गुरदयाल सिंह ने बताया कि महेशपुर गांव के रमेश प्रजापति, उमेश, गौरीबाजार के मैनुद्दीन व इनका एक अन्य साथी राजकुमार हरियाणा के रोहतक में एक होटल में ठहरे थे। जहां उन्होंने अपने को मानवाधिकार आयोग का प्रतिनिधि बताया था।

होटल से रमेश ने जींद जनपद निवासी डा. डीपी जैन से मोबाइल पर बात की और खुद को बीएसएनएल का एक अधिकारी बताया। रमेश ने बताया कि दूर संचार विभाग के कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण करना है। जिसके लिए आपको 17लाख का चेक मिलेगा। लेकिन उसमें से दस लाख रुपए बतौर कमीशन मुझे देना पड़ेगा। बात पक्की होने पर 30 मई को रमेश डॉक्टर के पास पहुंचा और लिफाफे में चेक रखकर डॉक्टर को सौंप दिया और दस लाख रुपए नकदी लेकर चल दिया। कुछ देर बाद चेक फर्जी होने की जानकारी होते डाक्टर के हाथ-पांव फूल गए।

उन्होंने मामले की जानकारी तुरन्त पुलिस को दी। जिसके बाद जींद जनपद की क्राइम ब्रांच मामले का खुलासा करने के प्रयास में भिड़ गई। रोहतक के होटल में उमेश उसी दिन दबोच लिया गया। लेकिन अन्य तीन लोग रुपए लेकर फरार हो गए। इंस्पेक्टर गुरदयाल सिंह ने बताया कि न्यायालय से उमेश को रिमाण्ड पर लेकर अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। उसी क्रम में सोमवार को हरियाणा पुलिस ने इस मामले में आरोपित रमेश के गांव महेशपुर व रामलक्षन स्थित आवास पर भी दबिश दी। लेकिन वह घर पर नहीं मिला। इसके साथ ही अन्य आरोपितों के ठिकाने पर भी छापेमारी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएसएलएल अधिकारी बन हरियाणा के डॉक्टर से ठगे दस लाख