DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीटीई ने चलती ट्रेन से महिला को फेंका, पैर कटा

मानिकपुर स्टेशन के प्लेट फॉर्म नम्बर एक से सोमवार को रवाना हो रही बाम्बे मेल एक्सप्रेस ट्रेन की बोगी से महिला यात्री को टीटीई ने फेंक दिया, जिससे उसका एक पैर कट गया। ट्रेन रुकी तो नाराज यात्रियों ने टीटीई को पीट-पीट कर जीआरपी के हवाले कर दिया। घायल महिला को मानिकपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जीआरपी मानिकपुर पुलिस इस मामले की लीपापोती में जुट गई। थानाध्यक्ष भुवनेश्वर पाण्डेय ने टीटीई का नाम तक छिपाने का प्रयास किया। देर शाम तक उसे थाने के अन्दर बंद रखा गया।

मुम्बई मेल में औरंगाबाद से मैहर देवी दर्शन को आ रहे शिवनाथ व उनकी पत्नी वन्दना देवी समेत परिवार के आठ सदस्यों को टीटीई ने ट्रेन से उतारा। बाकी सदस्य तो उतर गए पर महिला वन्दना देवी (45) को उतरने में थोड़ा विलंब हुआ। इस बीच ट्रेन चल दी। इसी बीच टीटीई ने महिला यात्री को लात मारकर ट्रेन से नीचे फेंक दिया। शरीर का संतुलन बिगड़ने से महिला प्लेटफार्म में गिरकर ट्रेन के नीचे जा गिरी। उसका एक पैर कट गया। इस घटना के बाद ट्रेन रुकी तो प्लेटफार्म व बोगी में मौजूद यात्रियों ने नशे में धुत टीटीई को पकड़ लिया और पिटाई कर दी। स्टेशन में अफरा तफरी का माहौल बन गया।

मौके पर जीआरपी थानाध्यक्ष भुवनेश्वर पाण्डेय पहुंचे। नाराज भीड़ को कार्रवाई का भरोसा दे टीटीई को उनके चंगुल से छुड़ाकर थाने में बैठा दिया। इधर घायल महिला को मानिकपुर अस्पताल लाया गया जहां उसकी हालत गंभीर बनी है। बताया गया कि घायल महिला नाती का मुंडन संस्कार कराने औरंगाबाद से मैहर जा रही थी। ट्रेन में भीड़ थी तो पूरा परिवार स्लीपर कोच में चढ़ गया। मात्र 70 किमी का सफर बाकी था कि यह टीटीई मिल गया और उसने इन यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठा पांच हजार रुपए मांगे। तीर्थयात्रा पर निकले परिवार ने जब इतनी रकम न होने की बात कही तो वह बदतमीजी पर उतर आया। इन यात्रियों के पास जनरल टिकट भी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीटीई ने चलती ट्रेन से महिला को फेंका, पैर कटा