DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चित्रकूट में तिहरे हत्याकांड में छह को उम्रकैद

छह साल पहले हुए तिहरे हत्याकांड के एक मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज आशीष जैन ने छह आरोपियों को उम्रकैद और 30 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। एक आरोपी के नाबालिग होने पर उसका मामला किशोर न्यायालय में भेजा गया है। सभी आरोपी इस समय बांदा जेल में बंद हैं।

राजापुर क्षेत्र के पराकों गांव के मजरा सोती पुरवा के चुनकावन यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 25 फरवरी 2010 को वह अपने बच्चे का मुंडन कराकर जीप से परिवार समेत रात 11 बजे गांव आया था। इसके बाद उसका बहनोई गुडडू, भाई श्याम व सुंदर परिवार के लोगों को छोड़ने के बाद गाड़ी लेकर जरूरी काम से लौट रहे थे। 

रास्ते में गांव के जगपत उर्फ बच्चा व उसके भाई सुरपत, गनपत, अखिलेश, उमेश, ढुनगन केवट और नाबालिग धीरेन्द्र ने रायफल व लाठी-डंडों से लैस होकर उनको घेर लिया। रास्ते के विवाद को लेकर मारपीट शुरू कर दी। विरोध पर बहनोई व दोनो भाइयों की गोली मारकर हत्या कर दी। उसकी बहन प्रेमलता घायल हो गई थी। 

इस तिहरे हत्याकांड में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। सभी आरोपी जमानत न मिलने पर बांदा जेल में बंद हैं। बुधवार को अभियोजन अधिकारी दिलीप श्रीवास्तव व एडीजीसी अवधेश यादव ने बताया कि पुलिस के विवेचना दाखिल करने के बाद फास्ट ट्रैक कोर्ट ने छह आरोपियों को उम्रकैद व 30 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। एक आरोपी धीरेन्द्र के नाबालिग होने के कारण उसका मामला किशोर न्यायालय को भेजा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:life imprisonment to six in triple murder case