DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आवास विकास की हड़ताल से छह हजार मकानों का काम रुका

आवास विकास परिषद के इंजीनियरों व कर्मचारियों की हड़ताल से प्रदेश भर में काम काज ठप हो गया है। इंजीनियरों ने  विभिन्न शहरों में बन रहे परिषद के करीब 6000 मकानों का निर्माण रोकवा दिया है। इंजीनियर व कर्मचारी पिछले सात दिनों से मुख्यालय में प्रदर्शन कर रहे हैं। कर्मचारियों व इंजीनियरों ने इस बार संयुक्त संघर्ष समिति बनाकर आन्दोलन शुरू किया है। पहली बार इस तरह कर्मचारी व इंजीनियए एक जुट होकर एक मंच पर आए हैं। तीखे तेवरों को देखकर प्रमुख सचिव आवास सदाकान्त ने 12 सितम्बर को कर्मचारी नेताओं को वार्ता के लिए बुलाया है।

15 दिन बाद भी सुनवाई नहीं
आवास विकास परिषद के कर्मचारी व इंजीनियर करीब 15 दिनों से आन्दोलित हैं। प्रशासन को सजग करने के लिए कर्मचारियों ने करीब 10 दिन तक गेट मीटिंग की। शाम को चार से छह बजे तक प्रदर्शन किया। इसके बावजूद उनकी मांगे न माने जाने से कर्मचारियों ने करीब एक सप्ताह पहले कलमबंद हड़ताल की घोषणा कर दी थी। अब यह हड़ताल प्रदेभ भर में फैल गयी है। प्रदेश के सभी कार्यालयों में ताला पड़ गया है।

बिना एरियर के वापसी नहीं
इंजीनियर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनील चौधरी व कर्मचारी संघ के राजमणि मिश्रा ने साफ कहा कि अब कर्मचारी बिना छठें वेतनमान का एरियर लिए पीछे नहीं हटेंगे। जरुरत पड़ी तो पूरे प्रदेश भर के कर्मचारी यहां जुटेंगे। अब शासन प्रशासन से आर पार की लड़ायी लड़ी जाएगी। कर्मचारियों व इंजीनियरों ने पूरे प्रदेश में बन रहे आवास विकास के करीब 6000 मकानों के निर्माण व उनकी फिनिशिंग का काम ठप करा दिया है। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि अगर 12 को वार्ता सफल नहीं हुई तो सभी अफसरों के कमरों में भी ताला डाल दिया जाएगा। इसके बाद अफसरों को मुख्यालय में व कार्यालयों में भी घुसने नहीं दिया जाएगा।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:housing development council engineer strike