DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम के मंच को लेकर घमासान

मेट्रो के शिलान्यास समारोह के पहले 11.50 लाख पानी में चले गए। पालिका स्टेडियम में सीएम के मंच को लेकर पीडब्ल्यूडी और केडीए के ठेकेदार में घमासान हो गया। पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार ने केडीए के ठेकेदार का काम यह कहते हुए रुकवा दिया कि जबतक ईंटों से तैयार हो रहे मंच का भुगतान नहीं मिलेगा तब तक दूसरे मंच का निर्माण नहीं होने देंगे। हालांकि केडीए ने पीडब्ल्यूडी को यह लिखकर दे दिया कि अब स्टेप होल्डिंग से मंच बनेगा। पीडब्ल्यूडी इसकी देखरेख करेगा। इस चक्कर में ठेकेदार का भुगतान कौन करेगा यह तय नहीं हो सका है।

गुरुवार को केडीए के निर्देश पर दिल्ली की लाइम लिजार्ड इवेंट मैनेजमेंट कंपनी पालिका स्टेडियम में सीएम का मंच बनाने पहुंची। इससे पहले कंपनी ने मौके पर स्टील की स्टेप होल्डिंग और पिलर गिरा दिया था। इसी बीच पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार राजेश कटियार वहां पहुंच गए। कंपनी को काम करने से रोक दिया। इस पर दोनों ठेकेदारों में विवाद हो गया। कंपनी ने इसकी सूचना केडीए और पुलिस को दी। मौके पर स्वरूपनगर थाने की फोर्स पहुंची।

पुलिस के सवाल पर ठेकेदार बोला
पुलिस के सवाल पर ठेकेदार राजेश ने कहा कि उन्होंने टेंडर से पीडब्ल्यूडी से मंच बनाने का काम लिया था। वह पक्का मंच बनाने को यहां चार दिन से काम कर रहे थे। केवल मजदूरों के ही डेढ़ लाख खर्च हो चुके हैं। दस लाख की ईंट और निर्माण सामग्री पहुंच चुकी है। मंच को तोड़ने की बात हो रही है, जो सामान लग गया है उसका क्या करें। जब तक भुगतान नहीं होगा, तब तक काम नहीं होने देंगे। इसके लिए 500 मजदूरों समेत सीएम के सामने पेश होंगे। केडीए यह लिखकर दे कि भुगतान करेंगे तो वह सामान लेकर चले जाएंगे।

केडीए ने पीडब्लूडी को लिखा पत्र
विवाद पर केडीए के मुख्य अभियंता वीके गोयल और अधिशासी अभियंता मनोज कुमार मिश्रा पहुंचे। पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता अनिल मिश्रा आ गए। तय हुआ कि सीएम के लिए कार्यक्रम का आयोजन केडीए कर रहा है। इसलिए वह पीडब्ल्यूडी को लिखकर दे कि काम रोक दिया जाए। दूसरे ठेकेदार से काम कराया जाए। इसी आधार पर राजेश को पीडब्ल्यूडी से भुगतान क्लैम करने का मौका मिल जाएगा। केडीए उपाध्यक्ष के हस्ताक्षर से पीडब्ल्यूडी को लिखकर दे दिया गया कि शासन के निर्देश पर स्टेप होल्डिंग से मंच बनेगा। पहले हो रहा कार्य रोक दिया जाए। देर रात पुलिस की मौजूदगी में कंपनी ने काम शुरू कर दिया।

मामले पर केडीए सचिव केपी सिंह ने कहा है कि शासन के निर्देश पर अब स्टेप होल्डिंग का मंच बनाया जा रहा है। यह कार्य शुरू कर दिया गया है। पहले ईंटों का पक्का मंच बनाया जा रहा था। मौके पर जो भी कार्य हो रहा है शासन की मंशा के अनुरूप ही हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:clash in vendor vs pwd official over cm stage