DA Image
30 मार्च, 2020|6:49|IST

अगली स्टोरी

अगवा बच्चे का शव मिलने पर बवाल, चौकी फूंकने की कोशिश

बागपत के भड़ल गांव से 28 जुलाई को अपहृत चमड़ा व्यापारी के मासूम  बेटे का शव मंगलवार को मेरठ के जानी थाना क्षेत्र में हिंडन नदी में मिल गया। इस सूचना पर भड़ल में बवाल हो गया। गुस्साए लोगों ने बड़ौत-बुढाना मार्ग पर कई घंटे जाम लगाकर पुलिस चौकी मे तोड़फोड़ की और आगजनी का प्रयास किया। हालात को काबू करने के लिए कई जिलों की पुलिस और पीएसी मौके पर बुला ली गई। इस बीच डीआईजी ने भड़ल चौकी पर तैनात सभी सात पुलिसकमिर्यों को सस्पेंड कर दिया। तीन दिन में सभी हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के आश्वासन पर लोगों ने जाम खोला।

छह दिन पहले कांवड़ शिविर से भड़ल निवासी चमडा व्यापारी रविन्द्र के 11 वर्षीय पुत्र कृष उर्फ आर्यन का दिनदहाड़े अपहरण कर लिया गया था। चंद घंटे बाद ही बदमाशों ने फोन करके डेढ़ करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई थी। वारदात के बाद से ही आर्यन की बरामदगी को लेकर बड़े पैमाने पर सर्च अभियान चल रहा था मगर पुलिस आर्यन को तलाशने में फेल हो गई। मंगलवार की शाम जैसे ही आर्यन का शव मेरठ सीमा में हिंडन नदी में तैरते होने की सूचना मिली तो इलाके में हड़कंप मच गया। एसपी बागपत लाव-लश्कर के साथ मौके पर पहुंचीं और शव को पीएम के लिए भेजा।

उधर, घटना से आक्रोशित सैंकडो लोगों ने भड़ल चौकी पर पहुंची डीआईजी लक्ष्मी सिंह का घेराव कर हंगामा कर दिया। भड़ल चौकी में तोड़फोड़ कर आग लगाने का प्रयास किया गया। करीब तीन घंटे तक हंगामे, जाम और नोकझोंक के बीच पूरी पुलिस चौकी के सस्पेंड होने और कड़ी कारवाई के आश्वासन पर लोग शांत हुए।

 

 

 

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:body of the child after being abducted organically