DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसपा ने नहीं, सपा ने भाजपा को ट्रांसफर किया वोट: मायावती

बसपा ने नहीं, सपा ने भाजपा को ट्रांसफर किया वोट: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा है कि लोकसभा चुनाव में बीएसपी ने नहीं बल्कि सपा ने अपना वोट बीजेपी को ट्रांस्फर कराया है। जिसकी खास वजह से ही अब सपा की स्थिति काफी ज्यादा खराब बनी हुई है। इसलिए अब सपा सरकार के मुखिया बार-बार गठबन्धन करने की बात कर रहे हैं।

यह इस बात का सबसे बड़ा सबूत है।मायावती ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि जब सपा सरकार के मुखिया ने सन 2012 में विधानसभा का चुनाव अकेले ही लड़ा था, तो फिर अब इनको गठबन्धन करने की जरूरत क्यों महसूस हो रही है? सपा सरकार के मुखिया को यह मालूम होना चाहिए कि बीएसपी ने इस बार लोकसभा के चुनाव में चाहे एक भी सीट ना जीती हो लेकिन फिर भी वोट प्रतिशत के हिसाब से बीएसपी पूरे देश में बीजेपी व कांगेस के बाद तीसरे नंबर की पार्टी है।

दूसरी तरफ सपा राष्ट्रीय स्तर पर कहां व किस नंबर पर है, सपा को यह बात भी जनता को बतानी चाहिए।मायावती ने कहा कि टिकटों को लेकर सपा सरकार के मुखिया के आए दिन जो बयान आ रहे हैं, उससे साफ है कि सपा में वर्चस्व की लड़ाई खत्म नहीं हुई है। ऐसी स्थिति में मुसलमानों को विधानसभा चुनाव में अपना वोट सपा को देकर कतई भी खराब नहीं करना चाहिए।

उन्हें बसपा को वोट देना चाहिए वर्ना इसका सीधा फायदा बीजेपी को ही पहुंचेगा।उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता को नोटबन्दी के फैसले से प्रताड़ित किया है। इसमें कोई सन्देह नहीं है कि बीजेपी व नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा 8 नवंबर को बिना पूरी तैयारी के ही नोटबंदी का फैसला किया गया। देश की 90 फीसदी गरीब व मेहनतकश और मध्यम वर्गीय लोगों के लिए यह फैसला अभी तक भी पीड़ादायक बना हुआ है।

सबसे ज्यादा गरीब व किसान ही दुखी हैं। जिनको अपने पैसों के लिए दूर-दराज जाना पड़ रहा है। ऐसे हालातों में प्रधानमंत्री व इनके केन्द्रीय मन्त्रियों को भी इन लोगों के बीच में जाकर, इनकी दु:ख-तकलीफों को समझना चाहिए और इस फैसले की पुन: समीक्षा करनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bsp not but sp tranfered its vote-mayawati