DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी के नए CM योगी आदित्यनाथ के बारे में ये 8 चीजें जरूर जानें

यूपी के नए CM योगी आदित्यनाथ के बारे में ये 8 चीजें जरूर जानें

 

यूपी के विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत के साथ सत्ता में आई भाजपा ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री चुना। बता दें कि 1993 में गणित में एमएससी की पढ़ाई के दौरान गुरु गोरखनाथ पर शोध करने योगी आदित्यनाथ गोरखपुर आए। यहां गोरक्षनाथ पीठ के महन्त अवैद्यनाथ की दृष्टि इन पर पड़ी। 1994 में ये पूर्ण संन्यासी बन गए, जिसके बाद इनका नाम अजय सिंह बिष्ट से योगी आदित्यनाथ हो गया। आइए बताते है कि योगी कब-कब लाइमलाइट में आएं...

पढ़ें: नाथ परंपरा, गोरखपुर मंदिर और महंतों का इतिहास

1. कम उम्र में बने सांसद

योगी आदित्यनाथ का नाम लोकसभा में पहुंचने वाले सबसे कम उम्र के सांसदों की सूची में भी शामिल है। गोखनाथ मंदिर के महंत अवैद्यनाथ ने उन्हें अपना उत्तराधिकारी घोषित किया जिसके बाद 1998 में वह सांसद चुने गए। योगी जब 12वीं लोकसभा में सांसद बनकर पहुंचे तब उनकी उम्र मात्र 26 साल थी। वह बारहवीं लोक सभा (1998-99) के सबसे युवा सांसद थे। इसके बाद योगी लगातार 5 बार (1999, 2004, 2009 और 2014) में भी सांसद चुने जाते रहे। 

2. धर्मांतरण के खिलाफ योगी

योगी धर्मांतरण के खिलाफ और घर वापसी के लिए काफी चर्चा में रहे। 2005 में योगी आदित्यनाथ ने कथित तौर पर 1800 ईसाइयों का शुद्धीकरण कर हिन्दू धर्म में शामिल कराया। ईसाइयों के इस शुद्धीकरण का काम उत्तर प्रदेश के एटा जिले में किया गया था।

पढ़िए मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार क्या बोले योगी आदित्यनाथ...
 
3. 2008 में हुआ था जानलेवा हमला

7 सितंबर 2008 को सांसद योगी आदित्यनाथ पर आजमगढ़ में जानलेवा हिंसक हमला हुआ था। इस हमले में वे बाल-बाल बचे थे, यह हमला इतना बड़ा था कि सौ से अधिक वाहनों को हमलावरों ने घेर लिया और लोगों को लहुलुहान कर दिया था।

4. गोरखनाथ मंदिर से योगी को दिलाई बड़ी पहचान

गोरखनाथ मंदिर में लोगों की बहुत आस्था है। मकर संक्राति पर हर धर्म और वर्ग के लोग बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाने आते हैं. महंत दिग्विजयनाथ ने इस मंदिर को 52 एकड़ में फैलाया था. उन्हीं के समय गोरखनाथ मंदिर हिंदू राजनीति के महत्वपूर्ण केंद्र में बदला, जिसे बाद में महंत अवैद्यनाथ ने और आगे बढ़ाया. उनके निधन के बाद महंत योगी आदित्यनाथ इस विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं।

अागे की स्लाइड में पढ़ें लोगों को क्यों पसंद हैं योगी आदित्यनाथ?

यूपी के नए CM योगी आदित्यनाथ के बारे में ये 8 चीजें जरूर जानें
यूपी के नए CM योगी आदित्यनाथ के बारे में ये 8 चीजें जरूर जानें

 

5. महन्त अवैद्यनाथ के निधन के बाद बने मंहत

योगी आदित्यनाथ 12 सितंबर 2014 को गोरखनाथ मंदिर के पूर्व महन्त अवैद्यनाथ के निधन के बाद उन्हें यहां का महंत बने। 2 दिन बाद उन्हें नाथ सेक्ट के पारंपरिक अनुष्ठान के मुताबिक मंदिर का पीठाधीश्वर बनाया गया। 

6. हिन्दू वाहिनी का किया गठन 

योगी आदित्यनाथ हिन्दू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं, जो हिन्दू युवाओं का सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी समूह है। इनकी छवि कथित तौर पर एक कट्टर हिन्दू नेता की है। राजनीति के मैदान में आते ही योगी आदित्यनाथ ने सियासत की दूसरी डगर भी पकड़ ली, उन्होंने कई बार विवादित बयान भी दिए, लेकिन दूसरी तरफ उनकी राजनीतिक हैसियत बढ़ती चली गई।
 
7. क्यों हैं लोगों की पसंद 

लोगों का मानना है कि योगी जाति विशेष के विकास को मद्दनेजर न रखते हुए हिंदुत्व को आगे बढ़ाने पर फोकस करते हैं। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि योगी आदित्यनाथ के बारे में एक सांप्रदायिक नेता होने की हवा बना दी गई है जबकि ऐसा नहीं है। वे हर धर्म का आदर करते हैं, हां यदि अन्याय हो रहा है तो निश्चित ही उसकी मुखालिफत करना गलत नहीं है।

8. 2014 में मिली थी योगी को बड़ी जिम्मेदारी

2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने यूपी के उपचुनाव के लिए योगी आदित्यनाथ के हाथ में कमान दी थी। जिसके बाद वह फिर से चर्चा में आए थे। हालांकि कुल 11 सीटों पर हुए उपचुनावों में सिर्फ 3 सीटें ही भाजपा के झोली में आए लेकिन उस वक्त उनका कद और भी ऊंचा हो गया।

यूपी के नए CM योगी आदित्यनाथ के बारे में ये 8 चीजें जरूर जानें
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:8 thing you must know about up cm yogi adityanath