DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खौफनाकः अमेठी में एक ही परिवार के 11 लोगों की गला रेतकर हत्या

खौफनाकः अमेठी में एक ही परिवार के 11 लोगों की गला रेतकर हत्या

अमेठी के महोना पश्चिम गांव में मंगलवार की रात एक ही परिवार के 11 सदस्यों की हत्या कर दी गई। 10 लोगों की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या की गई। परिवार के मुखिया का शव फांसी के फंदे से लटकता पाया गया। दो घायल सदस्यों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पता चला है पहले परिवार के सदस्यों को बेहोशी की दवा दी गई। उसके बाद उनका गला काट कर हत्या की गई। लेकिन मौके से बेहोशी की दवा दिए जाने के साक्ष्य नहीं मिले हैं। इस घटना का मुख्य आरोपी 45 वर्षीय जमालुद्दीन शुकुलबाजार थाना क्षेत्र के महोना पश्चिम गांव में  कस्बे में बैट्री रिपेयरिंग की दुकान करता था। बुधवार सुबह उसके परिवार के सदस्यों की हत्या की खबर जंगल में आग की तरह फैली।

पुलिस जब जमालुद्दीन के घर में दाखिल हुई तो उसके होश उड़ गए। घर के एक कमरे में हुश्ना बानो (32 वर्ष), रूबीना बानो (17 वर्ष), तहसीम बानो (9 वर्ष), मरियम बानो (8 वर्ष), महक बानो (7 वर्ष), निगार फातिमा (6 वर्ष), सानिया (5 वर्ष), उजमा (2 वर्ष) और करीब 17 वर्षीय अफसर बानो के शव एक कमरे में इधर-उधर पड़े थे। सभी की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या की गई थी। वहीं घर की छत पर आफरीन बानो (18 वर्ष) का शव मिला। इसका भी गला रेता गया था। इसके अलावा छत पर ही एक कमरे में परिवार के मुखिया जमालुद्दीन का शव फांसी के फंदे से लटकता मिला।

पत्नी और भतीजी घायल, सीएचसी में भर्ती
दूसरी ओर मृतक जमालुद्दीन की पत्नी जाहिदा और भतीजी तबस्सुम गंभीर हालत में पड़ी थी। पुलिस ने उन्हें सीएचसी जगदीशपुर में भर्ती कराया है। महोना में जमालुद्दीन के साथ ही उसके बड़े भाई का भी परिवार भी रहता था। भाई की करीब दो वर्ष पहले मौत हो चुकी है। 

ग्रामीणों में आक्रोश, मीडियाकर्मी की गाड़ी फूंकी
इस हत्याकांड की खबर मिलने के बाद पीड़ित परिवार के घर के बाहर जमा भीड़ का आक्रोश फूट पड़ा। भीड़ ने एक मीडियाकर्मी के वाहन में आग लगाने के साथ उसकी पिटाई की। कस्बे में रोड जाम कर प्रर्दशन शुरू कर दिया। आक्रोशित ग्रामीण प्रदेश स्तरीय अधिकारियों को बुलाने पर अड़े हैं। घटना की कवरेज कर रहे एक मीडियाकर्मी की पिटाई के बाद आक्रोशित भीड़ ने उनके वाहनों में भी आग लगा दी। बवाल बढ़ता देख कस्बे के दुकानदारों ने  शटर गिरा कर दुकानें बंद कर दीं। मौके पर मौजूद डीएम और अन्य अधिकारियों ने समझा बुझाकर रोड जाम खुलवाया।

जाहिदा ने कहा कि पति जमालुद्दीन ने ही सभी का गला काटा 
सामूहिक हत्याकांड और ग्रामीणों के आक्रोश की सूचना मिलने पर आईजी जोन ए सतीश गणेश ने मौका मुआयना किया। वहीं पर डीआईजी से पूरे मामले की जानकारी ली। एसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि जाहिदा बानो ने कहा है कि घटना वाली रात लगभग साढ़े आठ बजे उसके पति जमालुद्दीन ने सभी सदस्यों को एक दवा पिलाई थी कि इससे अब किसी भी सदस्य को कोई रोग नहीं होगा। इसके बाद सभी सदस्य सो गये थे। जाहिदा की माने तो गला रेत कर हत्या जमालुद्दीन ने ही की। उसके बाद खुद फांसी के फंदे पर झूल गया था। एसपी ने आईजी को यह भी बताया कि मौका-ए-वारदात से दवा की कोई शीशी या अन्य साक्ष्य नहीं मिले हैं। आला कत्ल के रूप में दो चाकू बरामद हुआ है।

उधर, फिंगर प्रिंट विशेषज्ञों की टीम को जांच के लिए बुलाया गया है। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस को रिपोर्ट आने का इंतजार है।

यूपी की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:11 members of same family killed in amethi man committed suicide than