अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेबस मां ने बेटे के इलाज के लिए पीएम मोदी को भेजी फरियाद और फिर...

बेबस मां ने बेटे के इलाज के लिए पीएम मोदी को भेजी फरियाद और फिर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बेटे के इलाज के लिए गुहार लगाने वाली महिला की पुकार सुन ली गई। पीएमओ से गुरुवार को फोन आने के बाद प्रशासनिक अमला दिनभर उस महिला की खोज में लगा रहा। शुक्रवार को आखिरकार जरूरतमंद महिला का पता चल गया।

ऋषिकेश के एसडीएम बृजेश कुमार तिवारी के पास गुरुवार दोपहर एक फोन आया। फोन नई दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से एक वरिष्ठ अधिकारी का था। उन्होंने ऋषिकेश की महिला संतोष रस्तोगी का पता लगाने के लिए कहा था। पीएमओ के अफसर ने बताया था कि संतोष का बेटा बीमार है। उसने पीएम से आर्थिक मदद की मांग की है। पीएमओ के अफसर ने इस संबंध में जानकारी भेजने के निर्देश दिए।

इसके बाद एसडीएम ने अधीनस्थों को संतोष का पता लगाने के निर्देश दे दिए। तहसीलदार और नायब तहसीलदार, सब फरियादी का पता लगाने में जुट गए। शुक्रवार दोपहर को प्रशासन को उस महिला का पता मिल गया। नायब तहसीलदार केडी जोशी ने बताया कि महिला संतोष रस्तोगी पत्नी राम मोहन, सर्वहारानगर काले की ढाल की निवासी हैं। उन्होंने अपने बेटे विशाल के इलाज के लिए पीएम से गुहार लगाई थी।

ऑनलाइन भेजी थी फरियाद

संतोष रस्तोगी ने दो दिन पहले अपने एक रिश्तेदार की मदद से मोबाइल फोन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऑनलाइन अपनी फरियाद भेजी थी। तहसील प्रशासन की खोजबीन में पता चला कि संतोष रस्तोगी आर्थिक रूप से बेहद कमजोर हैं। वह ठेली लगाकर अपने परिवार का भरण-पोषण करती हैं।

उनका बीस वर्षीय बेटा विशाल बेहद बीमार है। संतोष ने बताया कि इलाज न हो पाने के चलते विशाल घर पर ही रहता है। दरअसल विशाल की खाने की नली नहीं है। संतोष ने बताया कि वह अब तक विशाल के तीन ऑपरेशन करा चुकी हैं। इन ऑपरेशनों पर लगभग साढ़े चार लाख रुपये का खर्च आ चुका है। अब फाइनल ऑपरेशन के लिए उन्हें और पैसों की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mother sent complaint to PM Modi for son's treatment