DA Image
4 जून, 2020|8:06|IST

अगली स्टोरी

उद्घाटन तक आगरा एक्सप्रेस-वे पर आवागमन बंद

मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लख़नऊ एक्सप्रेस वे के उद्घाटन का समय जैसे-जैसे निकट आ रहा है। वहीं अधिकारियों की धुकधुकी तेज होती जा रही है तो किसानों के चेहरों पर मुस्कान बढ़ती जा रही है। उद्घाटन समारोह की तैयारियों में कोई गड़बड़ी न रह जाए इसे लेकर अधिकारी चिंतित हैं तो वहीं लोग फाइटर प्लेन देखने के लिए बहुत ही बेसब्री से उस पल का इन्तजार कर रहे हैं। शुक्रवार से उद्घाटन तक आगरा एक्सप्रेस-वे पर आवागमन पूरी तरह बंद रहेगा।

21 नवम्बर को प्रदेश के मुख्यमंत्री इस मार्ग का उदघाटन करेंगे । मार्ग के निर्माण से आम ग्रामीणों को तो उतना लाभ नहीं मिलेगा जितना लम्बी लम्बी दूरी तय करने वाले लोगों मिलेगा। इन्हें कम समय में अपने गन्तव्य स्थल तक पहुंचने में एक्सप्रेस-वे सहायक होगा। आगरा लख़नऊ एक्सप्रेस-वे की ऊंचाई काफी होने तथा ग्राम जगटापुर के निकट घुमाव दार चौराहा बनाये जाने के अलावा किसी भी ग्राम को इस मार्ग से न जोड़े जाने के कारण अधिकांश ग्रामीणों की समस्याएं बढ़ गई है ।

इन गांववासियों की बढ़ी समस्याएं

ग्राम खम्भोली, नसीर पुर भिक्खन, कबीरपुर, गढा, बहलोलपुर व गोलुहापुर आदि सहित इस क्षेत्र के दर्जनों ग्रामों के किसानों के खेत एक्सप्रेस- वे सड़क के उस पार हो जाने के कारण इन किसानों को अपने खेतों तक पहुंचने के लिए पांच- छ: किलोमीटर तक का चक्कर काटना पड़ेगा तो वहीं ग्राम कबीरपुर, नेवादा , अकबरपुर , मदारपुर , कलवारी मह्मदाबाद , ड्सग्वा व मोहम्मदाबाद सहित लगभग आधा सैकड़ा गांवों के लोगों को ब्लॉक मुख्यालय आने के लिए काफी चक्कर लगाना पड़ेगा ।

जगटापुर से पास घुमावदार चौराहा

ग्राम जगटा पुर के सामने घुमावदार चौराहा बनाया गया है इस चौराहे से एक्सप्रेस वे तक जाने का रास्ता भी बना है । इस रास्ते से छोटे बड़े वाहनों के स्वामी तो आगरा व दिल्ली आदि नगरों को जाने के लिए एक्सप्रेस वे का मार्ग का लाभ उठा सकेंगे । लेकिन छोटे तपके तथा आम लोग कोई खास फायदा नही उठा पाएंगे ।

चौगुना मुआवजा मिला है जमीनों का

यूपीडा संस्था द्वारा बनाये गए इस मार्ग में जिन किसानों की जमीनें गई है उन्हें भारी लाभ मिला है । अधिकांश किसानों को मुआवजा 15 और 16 लाख रूपये प्रति हेक्टेयर की दर से मिला है। ग्राम गोलुहापुर , बहलोलपुर , नसीरापुर भिक्खन , कबीरपुर, गौरिया कला व नवाबाद ग्रंट सहित लगभग एक दर्जन ग्रामों के किसान का सर्किल रेट आठ लाख रुपया प्रति हेक्टेयर निर्धारित था । इन गांवों के किसानों ने उच्च न्यायालय लख़नऊ खंडपीठ में मुकदमा दायर कर 16 लाख की मांग उठाई थी । ग्राम जगटापुर , खभौउली व गढा के किसानों ने यूपीडा के पक्ष में रजिस्ट्री तो कर दी है लेकिन इनके मुकदमें अभी भी हाईकोर्ट में विचाराधीन हंै ।

एक्सप्रेस-वे बन जाने से किसानों का होगा लाभ

ग्राम जगटा पुर के पूर्व प्रधान कृषक अमरेश पटेल ने कहा है कि इस मार्ग के बन जाने से छोटे तपके के लोगो को भले ही तत्कालिक लाभ न मिला हो लेकिन कुछ दिनों के बाद क्षेत्र के विकास में यह मार्ग मील का पत्थर साबित होगा । क्रय विक्रय समिति के अध्यक्ष एवम बड़े किसान मोनू सिंह ने मुख्यमंत्री के इस ड्रीम प्रोजेक्ट की तारीफ करते हुए इस क्षेत्र में हवाई पट्टी बनाये जाने को महत्व पूर्ण बताया है । उन्होंने कहा कि इस मार्ग के चालू हो जाने के बाद किसानों को अपनी उपज का उचित मूल्य मिलने की सम्भावनाएं बढ़ जायेगी ।

फाइटर प्लेनों का रिहर्सल आज से

गंजमुरादाबाद क्षेत्र में 21 नवम्बर को मुख्यमंत्री आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे मार्ग का उद्घाटन करेंगे। इसके पहले एक्सप्रेस-वे पर वायुसेना के लड़ाकू विमानों का रिहर्सल शुक्रवार से ही शुरू हो जाएगा। शुक्रवार को लो हाईट पर फाइटर प्लेन अपने करतब दिखाएंगे। एक्सप्रेस-वे की तैयारियों की गुरुवार को दिन भर अधिकारियों में मंत्रणा चलती रही। शुक्रवार को यूपीडा के कार्यपालक अधिकारी नवनीत सहगल मौके पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लेंगे।

दरअसल एक्सप्रेस-वे उद्घाटन के दो कार्यक्रम तैयार किए गए हैं। एक जगटापुर के पास एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमानों का करतब दिखाने का है। यह कार्यक्रम पूरी तरह यूपीडा की देखरेख में होगा। दूसरा खभौली के निकट मुख्यमंत्री की सभा का कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम का आयोजन जिलाधिकारी की ओर से किया गया है। दोनों की तैयारियां युद्व स्तर पर की जा रहीं हैं। एक्सप्रेस-वे पर फाइटर प्लेन जहां पर उतारे जाएंगे वहां पर अन्य किसी का प्रवेश नहीं होगा। यहां प्रवेश की अनुमति यूपीडा के कार्यपालक अधिकारी नवनीत सहगल देंगे। सभा स्थल के कार्यक्रम पर आने जाने के लिए जिला प्रशासन अपनी ओर से अनुमति देगा। डीएम सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सभा स्थल की देखरेख जिला प्रशासन की है। जबकि एक्सप्रेस वे पर जहां फाइटर प्लेन उतरेंगे वहां का जिम्मा यूपीडा के जिम्मे रहेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Agra Expressway closed to traffic at opening