DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैगी की बिक्री पर रोक

सरकार ने शुक्रवार को नेस्ले कंपनी के ब्रांड मैगी की सभी नौ किस्मों की बिक्री पर पूरे देश में पाबंदी लगा दी। भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने कहा, ‘मैगी के नौ नूडल खाने के लिहाज से असुरक्षित और खतरनाक हैं। इसलिए कंपनी तुरंत इनकी बिक्री और उत्पादन पर रोक लगाए।’

कंपनी ने मैगी पर सफाई दी : नेस्ले के ग्लोबल सीईओ पॉल बुल्के ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस कर मैगी पर सफाई दी। उन्होंने कहा, ‘मैगी पूरी तरह सुरक्षित है फिर भी हमने इसे भारतीय बाजार से हटाने का फैसला लिया है क्योंकि बेवजह भ्रम फैलने से ग्राहकों का भरोसा प्रभावित हो रहा है।’ पॉल स्विट्जरलैंड से आए थे।

15 दिन में जवाब दें: खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने नेस्ले को कारण बताओ नोटिस जारी करके पंद्रह दिन के अंदर जवाब मांगा है। नियामक का कहना है कि नेस्ले ने उत्पाद मंजूरी लिए बगैर और बिना जोखिम एवं सुरक्षा आकलन के मैगी ओट्स मसाला नूडल्स पेश किया है। इसलिए मैगी की सभी नौ किस्में तुरंत बाजार से वापस लेने का आदेश दिया है। 

एफएसएसएआई के मुख्य कार्यकारी वाईएम मलिक ने बताया, कंपनी को तीन दिन में बाजार से मैगी हटाने के आदेश पर रिपोर्ट देने को कहा गया है। साथ ही यह प्रक्रिया पूरी होने तक रोज प्रगति रिपोर्ट सौंपने का भी निर्देश दिया गया है।

भारत की जांच पर सवाल! : नेस्ले के ग्लोबल सीईओ पॉल से जब यह पूछा गया कि क्या वह भारतीय लैब में हुई जांच पर सवाल उठा रहे हैं तो उन्होंने इस बात से इनकार किया। पॉल ने कहा, ‘सबकी जांच का तरीका अलग-अलग हो सकता है। हम भारत का तरीका समझेंगे।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैगी की बिक्री पर रोक