DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में मैगी पर पाबंदी

दिल्ली सरकार ने भी मैगी की बिक्री पर 15 दिनों के लिए पाबंदी लगा दी है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा,'हमने नेस्ले कंपनी को दो हफ्ते का समय अपना पुराना स्टॉक बदलने के लिए दिया है। नया स्टॉक आने पर एक बार फिर से नमूनों की जांच होगी। इसके साथ ही सरकार बाजार में मौजूद दूसरी कंपनियों के नूडल की भी जांच करेगी।

कंपनी की सफाई से सरकार संतुष्ट नहीं: स्वास्थ्य मंत्री ने नेस्ले को मैगी का पुराना माल वापस लेने के निर्देश दिए हैं ताकि वह उपभोक्ताओं तक न पहुंचे।  उन्होंने इस विवाद पर कंपनी की ओर से आई सफाई को खारिज करते हुए कहा, 'कंपनी के कुछ अफसर आज सुबह मुझसे मिले। उनके अनुसार, मैगी में लेड की मात्रा सीमित है। मैं उनकी सफाई से संतुष्ट नहीं हूं। हमने 13 नमूनों की जांच करवाई थी, जिसमें 10 फेल हो गए थे। इसकी सीमा 2.5 पीपीएम होनी चाहिए जबकि जांच में औसत मात्रा 3.5 पीपीएम पाई गई।'

मैगी बिकती देखें तो करें शिकायत: दिल्ली सरकार ने मैगी नूडल्स की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई है। इस मुद्दे पर स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा,यदि कोई भी व्यक्ति मैगी की बिक्री होते हुए देखता है तो वह इसकी शिकायत सरकार से कर सकता है।

कई स्टोर से हटाया गया स्टॉक : केंद्र सरकार के केंद्रीय भंडार, आर्मी-पुलिस की 3500 कैंटीन, बिग-बाजार समेत फ्यूचर गु्रप के स्टोर ने भी अपने यहां मैगी का स्टॉक हटा दिया है। फ्यूचर गु्रप ने फैसला किया है कि जब तक मैगी पर कोई अंतिम फैसला नहीं आ जाता वह अपने स्टोर में मैगी नहीं रखेगा। वहीं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रिड्रेसल कमीशन को इस मामले में उचित कार्रवाई करने को कहा है।

जांच में लेड की मात्रा ज्यादा पाई गई
दिल्ली में मैगी के 10 नमूनों में लेड तय सीमा से ज्यादा मिला। मसालों के पांच नमूनों में मोनोसोडियम ग्लूटामेट पाया गया है, जबकि लेबल पर इसकी जानकारी नहीं दी गई है। यूपी में तो लेड की मात्रा 2.25 की जगह 17.2 पीपीएम पाई गई।

सेना ने जवानों से मैगी नहीं खाने को कहा
पुलिस के साथ सेना की करीब 2500 कैंटीन में भी मैगी नहीं रखने के आदेश जारी हो गए हैं। इतना ही नहीं सेना ने अपने जवानों को मैगी खाने से बचने की सलाह दी है। 13 लाख से अधिक सैन्यकर्मियों में मैगी सबसे अधिक खाई जाने वाली खाद्य सामग्री है।

अमिताभ-माधुरी और प्रीति पर मुकदमा दर्ज

मैगी का विज्ञापन कर चुके अमिताभ बच्चन, माधुरी और प्रीति जिंटा पर यूपी के बाराबंकी के बाद महाराजगंज में भी केस दर्ज हुआ है। बिग बी का कहना है कि उन्हें कोई नोटिस नहीं मिला है। जबकि प्रीति ने कहा अब वह मैगी का विज्ञापन नहीं करतीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली में मैगी पर पाबंदी