DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखे से निपटने के लिए तैयार: राधामोहन

मानसून में देरी और कम बारिश की आशंका से पिछले वर्ष के मुकाबले इस साल कृषि उत्पादन कम होने की संभावना है। मगर सरकार ने इस संकट से निपटने के लिए आपात योजना बनाई है। केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने बुधवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा, कम वर्षा की आशंका देखते हुए कृषि मंत्रालय ने देश के 580 जिलों के लिए आपात योजना तैयार की है। पिछले साल यही स्थिति पैदा होने पर कुछ लोगों ने अकाल पड़ने की आशंका जताई थी लेकिन सरकार ने सूझबूझ से काम किया। उत्पादन में नुकसान हुआ लेकिन यह बहुत अधिक नहीं था। इस बार भी हम पिछले अनुभव के आधार पर परिस्थिति का सामना करेंगे।

उन्होंने कहा कि कृषि मंत्रालय ने कई फसलों की सूखारोधी किस्में विकसित की हैं। बीज निगम के पास ज्वार, बाजरा व रागी के पर्याप्त बीज हैं। अगले दो हफ्तों में न्यूनतम समर्थन मूल्य भी घोषित कर दिया जाएगा। राधामोहन ने कहा, अगले तीन वर्ष में 5.68 अरब रुपये की लागत से 13 करोड़ 50 लाख किसानों के खेत की मिट्टी की जांच की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूखे से निपटने के लिए तैयार: राधामोहन