DA Image
25 नवंबर, 2020|7:40|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली-मेरठ रैपिड ट्रेन को मंजूरी

दिल्ली से मेरठ का सफर अब और आसान होने जा रहा है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) के बोर्ड की मंगलवार को हुई बैठक में  दोनों शहरों के बीच रैपिड रेल ट्रांजिट कॉरीडोर (आरआरटीसी) को मंजूरी दी गई। इसके तहत 92 किलोमीटर का कॉरीडोर बनाया जाएगा, जिस पर 12 कोच वाली ट्रेन 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ेगी। 

2024 में दौड़ेगी रैपिड ट्रेन: शहरी विकास सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में हुई बैठक में आरआरटीसी को मंजूरी दी गई। योजना पूरी होने में आठ साल लगेंगे और 2024 तक पहला सफर शुरू हो जाएगा। इसका 60 किलोमीटर का रास्ता दिल्ली मेरठ राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच खंभों के ऊपर बने मार्ग से तय होगा, जबकि 30 किमी. जमीन के भीतर रहेगा।

सराय काले खां से मोदीपुरम तक: दिल्ली में सराय काले खां से यह कॉरीडोर शुरू होगा और गाजियाबाद के रास्ते मोदीपुरम में समाप्त होगा। इसमें दो डिपो कनेक्शन स्टेशन दुहाई व मोदीपुरम में होंगे। दिल्ली व मेरठ क्षेत्र में यह कॉरीडोर जमीन के भीतर होगा और उसी रूप में यमुना नदी को भी पार करेगा। 

दूरी घटेगी: इस कॉरीडोर पर दिल्ली से मेरठ के बीच मौजूदा एक्सप्रेस ट्रेन की तुलना में 48 मिनट कम समय लगेगा। इसका प्रस्ताव 2005 में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड की बैठक में लाया गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: delhi meerut rapid train got approvel