DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंटरनेट से वैध कमाई के 5 रास्ते

वर्ल्ड वाइड वेब के आने के बाद से लगभग हर इंटरनेट योक्ता के मन में एक सवाल जरूर उठा है कि क्या वह इस विशाल अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का इस्तेमाल धन कमाने के लिए कर सकता है? शायद ही कोई व्यक्ति हो जो थोड़ा अतिरिक्त धन (और वह भी यदि संभव हो तो बिना समय या श्रम खर्च किए) पाना न चाहता हो। अखबारों में ऐसे विज्ञापनों की भरमार है जिनमें लोगों को ‘बिना कुछ किए इंटरनेट के जरिए धन कमाने’ के लिए आमंत्रित किया जाता है। ऐसे अधिकांश विज्ञापनदाताओं का उद्देश्य आम आदमी की धनलिप्सा का लाभ उठाना है। वे या तो अपनी ‘फीस’ वसूलकर चलते बनेंगे या फिर आपसे ऐसे काम करवाना चाहेंगे जो अवैध या अनैतिक हैं।
यदि आप भी इंटरनेट को अतिरिक्त आय के स्नोत के रूप में देख रहे हैं तो ऐसे लोगों की शरण में जाने की जरूरत नहीं है। गलत तरीके अपनाए बिना और कोई जोखिम लिए बिना भी इंटरनेट पर अतिरिक्त आय अर्जति की जा सकती है। लेकिन ‘बिना कुछ किए’ नहीं। यदि आपके पास कोई हुनर है, या आप अपना समय और श्रम देने को तैयार हैं तो इंटरनेट के महासमुद्र में कहीं न कहीं, आपकी सेवाओं या विशेषज्ञता के कद्रदान जरूर मिल जाएंगे। आखिरकार इंटरनेट से जुड़े लोगों की भी आप-हम जैसी जरूरतें हैं। यदि किसी अमेरिकी नागरिक की कोई आवश्यकता कोई हिंदुस्तानी व्यक्ति अपेक्षाकृत कम दामों में इंटरनेट के जरिए पूरा कर सकता है तो भला उसे क्या एतराज हो सकता है? जी हां, इंटरनेट पर पूरी तरह कानूनी ढंग से भी अतिरिक्त  धन कमाया जा सकता है, बशर्ते आपके पास कोई उत्कृष्ट उत्पाद, सेवा, योग्यता या विशेषज्ञता हो। और यदि आपको इंटरनेट मार्केटिंग करने के तौरतरीके भी आते हों, तो सोने में सुहागा!

 1. फ्रीलांसिंग
फ्रीलांसिंग, यानी किसी व्यक्ति या कंपनी से औपचारिक रूप से जुड़े बिना उनका कोई काम पूरा करना। जो लोग पहले ही कहीं कार्यरत हैं, वे अपने खाली समय में ऐसे कार्य करते हैं, तो ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जिन्होंने फ्रीलांसिंग को ही अपनी आजीविका का माध्यम बनाया है। इंटरनेट पर वेब डिजाइनिंग से लेकर लेखन, ग्राफिक डिजाइनिंग, पेज डिजाइनिंग, प्रोग्रामिंग, कॉपीराइटिंग, टीवी कार्यक्रमों की स्क्रिप्टिंग, सेल्स और मार्केटिंग, फाइनेंस और बंधन से लेकर कानूनी सलाहकार सेवाओं, इंजीनियरिंग और मैन्यूफैक्चरिंग तक के फ्रीलांस प्रोजेक्ट उपलब्ध हैं। प्राय: ऐसे काम प्रोजेक्ट के आधार पर मिलते हैं और हर प्रोजेक्ट के लिए निश्चित राशि दी जाती है। ऐसे प्रोजेक्ट्स में जहां कंपनियों को अच्छी दरों पर और जल्दी काम पूरा करवाने में आसानी होती है, वहीं फ्रीलांसर्स को अपना मौजूदा काम छोड़े बिना खाली समय में कुछ अतिरिक्त धन कमाने का मौका मिलता है और नए काम का अनुभव भी मिलता है।
फ्रीलांसिंग के इच्छुकों के लिए कई साइट उपलब्ध हैं जिन पर रजिस्ट्रेशन कराकर आप अपना काम शुरू कर सकते हैं। ज्यादातर फ्रीलांसिंग साइटों पर बिडिंग के आधार पर प्रोजेक्ट दिए जाते हैं यानी आपका शुल्क जितना कम, काम मिलने के आसार उतने ही अधिक। हालांकि काम की गुणवत्ता, संबंधित व्यक्ति की वरिष्ठता, साख और अन्य ग्राहकों के अनुभवों को भी आधार बनाया जाता है। आपको मिलने वाले काम के बदले में वेबसाइट की ओर से थोड़ा सा शुल्क वसूला जाता है। कुछ वेबसाइटों की सदस्यता लेने के लिए भी शुल्क लिया जाता है। फ्रीलांसरों के लिए कुछ साइट्स इस प्रकार हैं -
- इलैंस(www.elance.com)
- फ्रीलांसर (www.freelancer.com)
- रेंट-अ-कोडर (RentACoder.com)
- लोगोवर्क्स (LogoWorks.com)
- डिजाइनवपोस्ट (Designoutpost.com)

2. अनुवाद, संपादन, प्रूफ-रीडिंग
हालांकि, इसे फ्रीलांसिंग की श्रेणी में भी रखा जा सकता है, लेकिन धीरे-धीरे इंटरनेट पर इस किस्म का काम काफी बढ़ चुका है कि इसे एक स्वतंत्र श्रेणी में शुमार किया जाने लगा है। कई वेबसाइटें ऐसी सेवाएं चाहने वाली कंपनियों और अनुवादकों-संपादकों के बीच मंच का काम कर रही हैं। उनकी वजह से छोटे-छोटे शहरों में रहने वाले प्रवीण अनुवादक देश-विदेश से ऐसे ट्रांसलेशन प्रोजेक्ट प्राप्त करने लगे हैं, जो इंटरनेट की अनुपस्थिति में उन्हें मिल ही नहीं सकते थे। यदि आपकी किन्हीं दो भाषाओं पर अच्छी पकड़ है तो आप भी अतिरिक्त आय के लिए इस विकल्प को आजमा सकते हैं।
वैश्वीकरण के कारण एक भाषा से दूसरी भाषा में अनुदित होने वाले दस्तावेजों की संख्या और जरूरत बढ़ती जा रही है और यह सिलसिला लंबे समय तक चलने वाला है। इन वेबसाइटों पर अनुवादकों को प्राय: काम की गुणवत्ता के आधार पर, प्रति शब्द के आधार पर पारिश्रमिक दिया जाता है। कई बार क्लाइंट किसी खास फॉरमेट में अनुवाद मांगता है, इसलिए विभिन्न सॉफ्टवेयर फॉरमेट्स की
जानकारी रखने वाले अनुवादक दूसरों से बेहतर आय अर्जति कर लेते हैं।
इंटरनेट के जरिए अनुवाद के अवसर उपलब्ध कराने वाली कुछ प्रमुख वेबसाइटों के नाम इस प्रकार हैं-
- प्रोज (proz.com)
- ट्रांसलेटर्स कैफे (www.translatorscafe.com)
- ट्रैली (trally.com)
- ट्रैडू गाइड (www.traduguide.com)
- लैंगजॉब्स (www.langjobs.com),
- ट्रांसकोटेशन (www.transquotation.com)
- इलैंस (www.elance.com)

3. ऑनलाइन ट्यूशन
पश्चिमी देशों में अभिभावकों के पास अपने बच्चों का होमवर्क पूरा करवाने का वक्त नहीं होता। ऊपर से अच्छा और सस्ता ट्यूटर तलाशना उतना ही मुश्किल। ऐसे माता-पिता के लिए इंटरनेट एक सुखद माध्यम बनकर सामने आया है। वे इसकी मदद से अपने बच्चों को विदेशी शिक्षकों से अपेक्षाकृत कम दरों पर ऑनलाइन ट्यूशन करवा लेते हैं जिसमें दोनों ही पक्षों का लाभ होता है। अंग्रेजी, गणित और विज्ञान के अच्छे शिक्षकों की मौजूदगी भारत को ऑनलाइन ट्यूशन के क्षेत्र में पहले ही स्थापित कर चुकी है। यदि आप भी अध्यापक हैं या किसी विषय पर अच्छी पकड़ रखते हैं तो घर बैठे-बैठे ही देसी-विदेशी छात्रों को ट्यूशन दे सकते हैं। यदि आपको एक से अधिक विदेशी छात्र मिल जाते हैं तो आपकी आय पूर्णकालिक नौकरी से भी बेहतर हो सकती है।
विभिन्न वेबसाइटों पर ऑनलाइन ट्यूशन के लिए इंटरनेट आधारित आधुनिक तकनीकों का योग किया जाता है जिसके लिए पहले अध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाता है। विषय विशेष की ट्यूशन के अलावा छात्रों को प्रोजेक्ट पूरे करने में मदद करने और विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं की कोचिंग जैसे अवसर भी उपलब्ध हैं। इसके लिए ट्यूटर को प्रति घंटा पांच डालर (लगभग सवा दो सौ रुपए) से लेकर बीस-पच्चीस डालर (नौ सौ-ग्यारह सौ रुपए) तक मिल जाते हैं। अपने घर की चारदीवारी से बाहर निकले बिना, महज एक घंटा काम करके इतना कमा लेने में भला क्या बुराई है, लेकिन ऐसे छात्रों को ढूंढ़ा कैसे जाए? इसका उत्तर भी इंटरनेट पर ही मौजूद है। ऐसी ही कुछ साइट्स हैं-
- टूशन (www.2tion.net) एक ऐसी वेबसाइट, जिससे दुनिया भर के करीब 77 हजार छात्र और 22 हजार अध्यापक जुड़े हैं।
- ट्यूटरविस्टा (www.tutorvista.co.in)
- ट्रांसट्यूटर्स (transtutors.com )
- आनलाइनट्यूशन (onlinetuition.co.in),
- बडीस्कूल (www.buddyschool.com),
- होमट्यूटर्स नेटवर्क (http://hometutorsnetwork.com)

4. फोटोग्राफी
अगर आपको लगता है कि आपके भीतर फोटोग्राफी की प्रतिभा मौजूद है तो वेबसाइट, प्रेजेन्टेशन, ब्रॉशर, पत्र-पत्रिकाओं, अखबारों आदि के लिए चित्रों की मांग हमेशा बनी रहती है। इंटरनेट पर कुछ स्टॉक फोटोग्राफी वेबसाइटें मौजूद हैं जो अच्छी क्वालिटी के लाखों फोटोग्राफ और ग्राफिक्स का संकलन तैयार रखती हैं। प्रकाशन संस्थान और वेबसाइट निर्माता उनसे अपनी पसंद के फोटोग्राफ या चित्र खरीद सकते हैं, लेकिन अनेक मौकों पर इन वेबसाइटों के पास मांग के अनुसार उपलब्ध कराने के लिए चित्र नहीं होते। मिसाल के तौर पर किसी व्यक्ति को केरल की किसी प्राचीन मल्ल-विद्या का चित्र चाहिए तो वह स्टॉक फोटोग्राफी वेबसाइटों के पास शायद ही उपलब्ध हो। इसी तरह किसी छोटे से गांव, किसी विशेष घटना, किसी भुला दिए गए व्यक्ति आदि के चित्र भी अनेक बार अप्राप्य हो जाते हैं। अगर आपके पास उनके फोटोग्राफ हैं तो आप उन्हें स्टॉक फोटोग्राफी साइटों को बेच सकते हैं। वेबसाइटों की बढ़ती संख्या के कारण विश्व में बहुत सामान्य चीजों- मसलन चम्मच, कटोरी, दरवाजा, दीपक, पेन, स्याही, कंप्यूटर, बादल, पेड़, छत, खेल आदि के चित्रों की भी दुनिया में बहुत मांग है। आप अपने आसपास की चीजों के अच्छी क्वालिटी के चित्र खींचकर उन्हें भी इन वेबसाइटों को भेज सकते हैं।
अमेरिकी नेवी इंस्टीट्यूट जैसे कुछ सरकारी संस्थान और आउट ट्रैवलर (www.outtraveler.com) जैसी पर्यटन संबंधी वेबसाइटों पर भी ऐसे फोटोग्राफों की मांग निरंतर बनी रहती है। अगर आप चाहें तो अपनी निजी वेबसाइट बनाकर भी अच्छे फोटोग्राफ्स का पोर्टफोलियो तैयार कर सकते हैं, लेकिन इन वेबसाइटों को फोटोग्राफ देते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपके चित्रों में किसी के ट्रेडमार्क, कॉपीराइट या कानून का उल्लंघन न हो रहा हो। फोटोग्राफ खरीदने वाली कुछ साइट्स के नाम -
- फोटोलिया (fotolia.com)
- आईस्टॉकफोटो (istockphoto.com)
- शटरस्टॉक (shutterstock.com)
- ड्रीम्सटाइम (dreamstime.com)
- यूएस फोटो स्टॉक (usphotostock.com)
- वेबशॉट्स (www.webshots.com)
अंत में, इंटरनेट को अगर दूसरे लोगों तक पहुंचने के एक माध्यम के रूप में लिया जाए तो आय के कई वैध और नवीन रास्ते खुल सकते हैं। शुरुआत में आपको खोजबीन, संपर्को और तौरतरीकों को जानने-समझने में काफी समय लगाना पड़ सकता है। अलबत्ता, अगर एक बार आपका काम और नाम चल निकला तो अपेक्षाकृत कम समय लगाकर भी आप नियमित आय प्राप्त करते रह सकते हैं।

5. एचआर सर्विसेज
आपने सुना होगा कि कुछ कंपनियां उन कर्मचारियों को इन्सेन्टिव देती हैं जो उनकी जरूरत के अनुसार नए कर्मचारियों की भर्ती में मदद करते हैं। कुछ कंपनियां इसी तरह के इन्सेन्टिव उन सामान्य इंटरनेट सर्फर्स को भी देती हैं, जो उन्हें अच्छे उम्मीदवार सुझाते हैं। यह राशि पचास से लेकर एक हजार डालर तक (2300 रुपए से 45 हजार रुपए तक) हो सकती है, बशर्ते उनके द्वारा सुझाए गए उम्मीदवार का चयन हो जाए। मजे की बात यह है कि पूरे महीने में ऐसे किसी एक व्यक्ति को भी नियोक्ता द्वारा चयनित करवाने में सफल रहते हैं तो अतिरिक्त आय का आपका उद्देश्य पूरा हो जाता है। जरूरत है नौकरियों की वेबसाइटों से लेकर विभिन्न फोरमों, सामाजिक नेटवर्किंग साइटों और मित्र-मंडली के बीच अच्छे कर्मचारियों की तलाश की। इस किस्म के काम में ऐसे लोग अधिक सफल होते हैं जो नियोक्ताओं और उम्मीदवारों दोनों के साथ अच्छा तालमेल बनाकर रखते हैं। हायरमैजिक जैसी कंपनियां तो उन लोगों को भी इंसेन्टिव देती हैं। इस क्षेत्र में कुछ उपयोगी साइट्स इस प्रकार हैं-
- रेफरअर्न्स (referearns.com),
- जायोइन (www.zyoin.com),
- हू-डू-यू-नो-फॉर-डफ (www. whodoyouknowfordough.com)
- बोहायर (http://www.bohire.com)
- वाइजस्टेप (http://wisestepp.com) जैसी वेबसाइटों पर अच्छे उम्मीदवारों को सुझाने वाले लोगों को इन्सेन्टिव देने की सुविधा है।
- हूजानो (Hoojano.com),
- हायरमैजिक (www.hiremagic.com),
- जॉबथ्रेड (www.hiremagic.com)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंटरनेट से वैध कमाई के 5 रास्ते