DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

म्यूचुअल फंड जोखिम

म्यूचुअल फंड को निवेश के सुरक्षित विकल्प के तौर पर देखा जाता है, लेकिन ये मानकर चलना कि म्यूचुअल फंड में निवेश करने से जोखिम शर्तिया तौर पर कम हो जाता है, सही नहीं होगा। म्यूचुअल फंड में निवेश करने से होने वाले जोखिम के बारे में बात करेंगे।

बाजार का जोखिम : म्यूचुअल फंड में किया गया निवेश बाजार के जोखिम से जुड़ा होता है। इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपने जिस लक्ष्य को ध्यान में रखकर निवेश किया है उसे आप प्राप्त ही कर लें। साथ ही गौर करने वाली बात यह भी है कि किसी स्टॉक या फंड का पुराना प्रदर्शन हमेशा ये तसदीक नहीं करता कि भविष्य में भी यह फंड बेहतर प्रदर्शन करेगा।

फंड का प्रदर्शन : निवेश करते वक्त एक प्रमुख बात ये भी होती है कि निवेशक कई फंड्स के बारे में ये मानकर बैठ जाता है कि वह अच्छा प्रदर्शन करेंगे ही पर हमेशा हर फंड उम्मीद पर खरा नहीं उतरता और बाजार के ट्रेंड को तोड़ नहीं पाता। ऐसे में निवेश के दौरान इसे ध्यान रखने की जरूरत है।

बाजार और मैनेजर : जब इंवेस्टमेंट मैनेजर किसी पोर्टफोलियो को प्रभावशाली तरीके से मैनेज नहीं कर पाता तब वह फंड अपना उद्देश्य पूरा नहीं कर पाता। वहीं किसी इंडस्ट्री में होने वाली उथल-पुथल की वजह से उस इंडस्ट्री के स्टॉक में गिरावट आती है।

- सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) लांग टर्म में निवेश का बेहतर विकल्प है।
- निवेश का फैसला लेते समय किसी फंड के पहले के प्रदर्शन को आधार न बनाएं।
- फंड के प्रदर्शन को नियमित अंतराल में चेक करते रहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:म्यूचुअल फंड जोखिम