DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सफलता की राह

राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी फिल्म ‘आई एम’ के लिए निर्देशक ओनिर ने सोशल नेटवर्किग साइट फेसबुक के जरिए बड़ी रकम जुटायी। ‘आई एम’ से दुनिया भर के 45 शहरों से करीब 400 लोग बतौर सहनिर्माता जुड़े। यह सोशल मीडिया की नई ताकत है। यहां लोगों को अपने साथ जोड़ने के साथ ही अपने सपने पूरे करने का भी मौका मिलता है।

आगरा के प्रतीक पांडे को ही लें। प्रतीक को अदाकारी का शौक था। रंगमंच पर काम भी किया, लेकिन फेसबुक ने उनके लिए बड़े पर्दे का रास्ता खोल दिया। प्रतीक जल्द ही ‘पथिक’ से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत कर रहे हैं।
नौकरी हो या खुद का व्यवसाय सोशल मीडिया के जरिए आप तरक्की  की राह तैयार कर सकते हैं।  जरूरत है सही रणनीति की। सही समय पर सही जगह और सही तरीके से उपस्थिति दर्ज कराने की। हालांकि सोशल मीडिया एक बड़ा मंच है और दिनोंदिन इसकी पहुंच बढ़ रही है, पर व्यावसायिक तौर पर इसके इस्तेमाल करने वालों की संख्या देश में अभी कम है।

नेटवर्क बनाएं
सोशल मीडिया विशेषज्ञ पीयूष पांडे का कहना है, ‘सोशल नेटवर्किग साइट्स का मुख्य उद्देश्य नेटवर्किंग या अपना दायरा बढ़ाना है। फेसबुक-ट्विटर जैसी साइट्स जहां निजी दायरे को बढ़ाने में मदद करती हैं, वहीं लिंक्डइन और यूट्यूब आपको प्रोफेशनल मंच भी देती है। यहां आप लगातार अपने दायरे को बढ़ा सकते हैं और अपने ही पेशे से जुड़े लोगों से सीधे संपर्क बना सकते हैं। मान लीजिए आप लेखक हैं तो फेसबुक व निजी ब्लॉग के जरिए आप अपनी क्षमता को लोगों के सामने दर्शा सकते हैं। यदि आपका नेटवर्क समान रुचि रखने वालों से है तो यह आपके लिए प्रोफेशनल राह भी खोल सकता है।’

प्राथमिकता तय करें
पीयूष बताते हैं कि आज कंपनियों को बेहतर प्रोफेशनल्स की जरूरत है तो लोगों को नौकरी की। इसके लिए कंपनियां सोशल साइट्स का इस्तेमाल कर रही हैं। सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सर्विस रेपलर ने बीते साल एक सर्वे किया। इसमें 300 से ज्यादा नियोक्ताओं से बात की। इसके अनुसार 90 फीसदी  नियोक्ताओं ने संभावित उम्मीदवारों के सोशल नेटवर्किग प्रोफाइल की पड़ताल की। 69 फीसदी नियोक्ताओं ने उम्मीदवारों को उनके सोशल मीडिया के कंटेंट के आधार पर रिजेक्ट कर दिया। वहीं यदि आप अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो अपनी कंपनी का एक अच्छा-सा प्रोफाइल बनाएं। उस पेज पर निजी संवाद न ही करें। सोशल नेटवर्किग इस्तेमाल करने के अपने लक्ष्य को लेकर स्पष्ट रहें।

भीड़ से अलग पहचान
सोशल मीडिया साइट्स पर खुद को रजिस्टर करने से काम नहीं चलेगा, अपनी अलग पहचान बनाने की भी जरूरत होगी। अपने क्षेत्र से जुड़ी चीजों और विचारों को रचनात्मक तरीके से प्रस्तुत करना होगा। लगातार  सक्रिय रहना भी जरूरी है।

सब्र रखें
सोशल मीडिया का इस्तेमाल खुद को ब्रांड बनाने के लिए करें। इससे नौकरी और निजी व्यवसाय दोनों में फायदा होगा। यहां यह ध्यान रखना भी जरूरी है कि ऑनलाइन छवि बनाने में वक्त लगता है। एक ही दिन में आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट से पैसा नहीं कमा सकते, इसलिए सब्र को बनाए रखना भी जरूरी है। स्वयं को ब्रांड के तौर पर स्थापित करना एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है।

इस्तेमाल का सही तरीका
रोचक लिंक पेस्ट करें: अपने क्षेत्र से जुड़े रोचक विषयों के लिंक पेस्ट करें। अपने क्षेत्र के जानकारों से ऑनलाइन बातचीत में अपने क्षेत्र की मौजूदा स्थिति के बारे में बातें करें।
अपने ज्ञान का परिचय दें : विषय या वस्तु के साथ कुछ रचनात्मक विचार जोड़ना आपकी जानकारी और स्वतंत्र सोच को दर्शाता है। चूंकि सोशल मीडिया के मंच पर लोग तेजी से अधिक लोगों से जुड़ते हैं। इससे न सिर्फ आपके नेटवर्क वाले लोग, बल्कि आपके दोस्तों के दोस्त भी आपको जानते हैं।
सवालों के जवाब दें: लिंक्डइन पर एक सेक्शन है- आन्सर। यहां अपने क्षेत्र से जुड़े सवाल एक खुले मंच पर पूछे जाते हैं। अन्य लोग इसका जवाब देते हैं, यह एक खुली चर्चा की तरह है।  इसी तरह की चर्चा अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी होती है। आप अपने जवाबों से  वस्तु या सेवा के बारे में लोगों की सहमति बनाने का काम कर सकते हैं। 
सोच-समझ कर करें कमेंट: यह मेरी वॉल है और इस पर मुझे कुछ भी कहने और करने का हक है, गलत सोच है। बुरी तस्वीरें और भद्दे कमेंट आपकी छवि बिगाड़ सकते हैं।
कुछ  लोकप्रिय सोशल नेटवर्किग साइट्स: फेसबुक, लिंक्डइन, गूगल प्लस, ट्विटर, यू-टय़ूब, स्लाइड-शेयर, पिंट्रेस्ट, डिग।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सफलता की राह