DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्रिज्बी

पिछली दो पीढ़ियों के लोगों ने अपनी युवावस्था में फ्रिज्बी उड़ाने का मजा लिया होगा। फ्रिज्बी प्लास्टिक से निर्मित एक हल्की-फुल्की गोल तश्तरी होती है जिसे हवा में उड़ाने और पकड़ने का खेल खेला जाता है। समुद्र किनारों, पार्को और स्कूल-कॉलेजों में यह खेल खेलते अनेक युवा, किशोर और यहां तक कि उम्रदराज लोग भी आपको दिख जाएंगे। 20 से 25 सेंटीमीटर यानी 8 से 10 इंच व्यास वाली डिस्क खेल का एक अनोखा साधन बन चुकी है।

फ्रिज्बी का आविष्कार वॉल्टर फ्रेडरिक मॉरीसन ने किया था। मॉरीसन अमेरिका के यूटा राज्य के रहने वाले थे। उन्होंने 1940 के दशक में एक तश्तरी को बनाने का प्लान बनाया था जिसे वह ‘वलरेवे’ कहते थे। इस काम में उनके सहायक थे वारेन फ्रांसिओनी। 1948 में यह तश्तरी बाजार में बिकनी शुरू हुई और इसका नाम रखा गया था ‘फ्लाइंग सॉसर’, लेकिन इसे कोई खास सफलता नहीं मिली थी। 1955 में मॉरीसन ने इसका नाम रखा ‘प्लूटो प्लेटर’।

यह नाम रखे जाने के पीछे अमेरिकी जनता में उड़नतश्तरियों के प्रति बढ़ता कौतुहल था। इसी तश्तरी के आधार पर भावी फ्रिज्बी का डिजाइन तैयार किया गया था। सन् 1957 में व्हैम-ओ नामक कंपनी ने इनका उत्पादन शुरू किया और मॉरीसन को फ्रिज्बी निर्माण का पेटेंट प्रदान किया गया था। इसी वर्ष प्लूटो प्लेटर का नाम
बदलकर फ्रिज्बी रखा गया था जिसके पीछे व्हैम-ओ कंपनी के सहायक संस्थापक का हाथ था।

1960 के दशक में व्हैम-ओ के जनरल मैनेजर एड हैड्रिक ने इसकी बिक्री बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। हैड्रिक जिन्हें ‘डिस्क स्पोटर्स का पिता’ के तौर पर जाना जाता है, ने बाद में ‘द इंटरनेशनल फ्रिज्बी एसोसिएशन’ की भी नींव रखी थी। उन्होंने इसी खेल के कई नए रूपों में खेलने की विधियां शुरू की। हैड्रिक ने ही फ्रिज्बी के नए ‘प्रोफेशनल’ डिजाइन की शुरुआत की थी जिसके लिए उन्हें इस खेल का पेटेंट प्रदान किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फ्रिज्बी