DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टेबलेट पीसी

टेबलेट पीसी एक स्लेटनुमा पतली मोबाइल कंप्यूटिंग डिवाइस होती है। इस डिवाइस को चलाने के लिए टचस्क्रीन या स्टाइलस सुविधा होती है। इसके जरिए कंप्यूटर चलाने में अधिक सुविधा प्राप्त होती है। टेबलेट पीसी अक्सर ऐसे स्थानों पर इस्तेमाल होता है जहां आम लैपटॉप या नोटबुकें काम में नहीं आती या काम ठीक तरीके से नहीं कर पाती हैं।

वर्ष 2001 में माइक्रोसॉफ्ट ने टेबलेट पीसी के बारे में सर्वप्रथम बताया था। यह एक छोटे आकार का कंप्यूटर होता है जिसमें खास किस्म की हार्डवेयर विशेषताएं माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाई गई विंडोज एक्सपी टेबलेट पीसी एडीशन ऑपरेटिंग सिस्टम या इससे मिलता जुलता सॉफ्टवेयर शामिल था।

टेबलेट पीसी एक छोटी सी डायरी के आकार की होती है जिसका इस्तेमाल डे-प्लानर, इंटरनेट सर्फिग, प्रोजेक्ट प्लानिंग, वीडियो फिल्में देखने, टीवी देखने, संगीत सुनने या ई-रीडिंग यानी अखबार, पुस्तकें आदि पढ़ने के काम आती है।

अधिकांशत: टेबलेट पीसी में 21 से 36 सेंटीमीटर लंबी एलसीडी स्क्रीन लगी होती है। कई कार्यक्षेत्रों जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा और फील्डवर्क में टेबलेट पीसी का अच्छा-खासा चलन देखने को मिल रहा है। फील्ड वर्क जैसे कि मार्केटिंग आदि में वैसे भी इस तरह के टेबलेट पीसी की आवश्यकता होती है जो मजबूत हों और साथ ही गर्मी, नमी और जिनका टूट-फूट का खतरा कम हो। इस दृष्टि से मौजूदा टेबलेट पीसी काफी कारगर सिद्ध हो रहे हैं।

आम लैपटॉप और टेबलेट पीसी में कई फर्क और अपनी-अपनी खूबियां खामियां हैं। मसलन, माउस या कीबोर्ड की इसमें जरूरत नहीं पड़ती, यह डायग्राम या गणितीय आंकड़ों को आसानी से रिकॉर्ड कर लेता है, लेकिन इसकी कीमत फिलहाल ज्यादा है। एक ओर जहां इसकी टचस्क्रीन सुविधा अपने आप में फायदेमंद है, वहीं स्क्रीन संवेदनशील होने के कारण उसके टूटने का डर भी रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टेबलेट पीसी