DA Image
3 जुलाई, 2020|7:32|IST

अगली स्टोरी

यूनीसेफ

यूनीसेफ (यूनाइटेड नेशन्स चिल्ड्रेंस फंड) को संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 11 दिसंबर, 1946 को बनाया था। इसका निर्माण द्वितीय विश्व युद्ध में तबाह हुए मुल्कों के बच्चों को खाना और स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना था। 1953 में यूनीसेफ, संयुक्त राष्ट्र का स्थाई सदस्य बन गया। उस दौरान इसका नाम यूनाइटेड नेशंस इंटरनेशनल चिल्ड्रेंस फंड की जगह यूनाइटेड नेशन्स चिल्ड्रेंस फंड कर दिया गया। इसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में है। वर्तमान में इसके मुखिया ऐन वेनेमन है। यूनीसेफ को 1965 में उसके बेहतर कार्य के लिए शांति के नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था। इसके 120 से ज्यादा शहरों में ऑफिस हैं और 190 से ज्यादा स्थानों पर इसके कर्मचारी काम करते हैं। वर्तमान में यूनीसेफ फंड एकत्रित करने के लिए विश्व स्तरीय एथलीट और टीमों की सहायता लेता है।
यूनीसेफ का सप्लाई डिवीजन कार्यालय कोपेनहोगेन में है। यह कुछ महत्वपूर्ण सामान जैसे जीवन रक्षक वैक्सीन, एचआईवी पीड़ित बच्चों व उनकी माताओं के लिए दवा, कुपोषण के उपचार के लिए दवाइयां, आकस्मिक आश्रय आदि के वितरण की प्राथमिक जगह होती है। 36 सदस्यों का कार्यकारी दल यूनीसेफ के कामों की देखरेख करता है। यह पॉलिसी बनाता है। साथ ही यह वित्तीय और प्रशासनिक योजनाओं से जुड़े प्रोग्रामों को स्वीकृति प्रदान करता है।
प्राथमिकता: वर्तमान में यूनीसेफ मुख्यत: पांच प्राथमिकताओं पर फोकस करता है। बच्चों का विकास, बुनियादी शिक्षा, लिंग के आधार पर समानता (इसमें लड़कियों की शिक्षा शामिल है), बच्चों का हिंसा से बचाव, शोषण, एचआईवी एड्स और बच्चों, बच्चों के अधिकारों की कानूनी लड़ाई के लिए काम करता है।