DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएमईआई नंबर

इस 30 नवंबर की रात से बिना या फर्जी आईएमईआई वाले मोबाइल फोन नंबर बंद हो गए हैं। हर मोबाइल में एक आईएमईआई नंबर होता है। जीएसएम, सीडीएम और आईडीईएन और कुछ सेटेलाइट फोन में ये नंबर होता है। ये नंबर मोबाइल फोन की कंप्लायंस प्लेट में लिखा होता है। यह नंबर *06 होता है। जीएसएम नेटवर्क आईएमईआई नंबर के इस्तेमाल द्वारा चुराए गए फोन के बारे में पता कर सकती है। यही नहीं, इसका एक फायदा और भी है कि इसकी मदद से आप मैनुफैक्चर, मॉडल, तारीख का पता लगा सकते हैं।

अगर किसी व्यक्ति का मोबाइल चोरी या गुम हो जाता है तो व्यक्ति सर्विस प्रोवाइडर को फोन कर इस बात की इत्तला कर सकता है। इसके द्वारा चोरी गए मोबाइल को ब्लॉक या बंद कराया जा सकता है। जब वह व्यक्ति मोबाइल खोलता है तो ईआईआर (इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर) के डाटाबेस के द्वारा उसे पता किया जा सकता है।

मोबाइल को ब्लॉक करने के साथ जीपीएस सिस्टम के द्वारा उसकी लोकेशन भी पता की जा सकती है। सीडीएमए के इलेक्ट्रॉनिक सीरियल नंबर या एमईआईडी की तरह ही आईएमईआई का प्रयोग गुम हो चुके मोबाइल को पता करने के लिहाज से होता है। 15 डिजिट वाले आईएमईआई नंबर में मोबाइल फोन के मॉडल, ओरिजन और डिवाइस के  सीरियल नंबर के बारे में लिखा होता है। शुरू के 8 डिजिट में ओरिजन और मॉडल के बारे में लिखा होता है।

विभिन्न देशों में आईएमईआई को लेकर अलग-अलग कानून हैं। ब्रिटेन में किसी मोबाइल फोन का आईएमईआई नंबर बदलना बड़ा अपराध है। भारत में तकरीबन 25 मिलियन लोग बिना आईएमईआई नंबर का मोबाइल फोन प्रयोग करते आ रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईएमईआई नंबर