DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीओएक्स

वीओएक्स (वॉयस ऑपरेटेड एक्सचेंज) एक इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट है, जो स्टैंडर्ड वॉकी-टॉकी जैसा होता है। इसका इस्तेमाल एनएसजी की टीम ने मुंबई आंतकी हमलों के दौरान किया था। वीओएक्स ऐसा सिस्टम है, जो उपभोक्ता की हल्की सी आवाज भी पकड़ता है और यह अपने दूसरे साथियों को सुन-बता सकता है।

यह ऐसी डिवाइस होती है जब उपभोक्ता इसमें बोलता है, सिर्फ उतनी देर तक ही ट्रांसमीटर ऑन रहता है, लेकिन बोलना रूकते ही यह भी बंद हो जाता है। यह इस्तेमाल किए जाने वाले पुश टू टूक बटन से काफी बेहतर होता है। साथ ही इसे मैनुअल तौर पर इस्तेमाल नहीं करना पड़ता है। जिससे कि स्पेशल ऑपरेशन फोर्स के लिहाज से यह मुफीद रहता है।

सेल फोन में वीओएक्स स्विच का इस्तेमाल बैटरी की लाइफ बचाने के लिहाज से किया जाता है। कुछ सेलफोन, टू वे रेडियो, फोन रिकॉर्डर और टेप रिकॉर्डर में वीओएक्स का विकल्प होता है। नासा मिशन के दौरान वीओएक्स का प्रयोग हुआ था, जिसने इस तकनीक को चलन में ला दिया।

वीओएक्स में एक ट्रांसमीटर लगा होता है, जो कि सूचनओं को ग्रहण करता है। ईयरपीस सिर के पास होता है और सेंसर चेहरे के पास। ताकि आवाज की थोड़ी सी फुसफुसाहट को भी सुना जा सकें। ध्वनि के समाप्त होने के कुछ देर तक सर्किट एक्टिवेट रहता है और इसके बाद स्वत: ही बंद हो जाता है। दुबारा थोड़ी सी भी आवाज होते ही यह अपने आप एक्टिवेट हो जाता है। स्विच के लिए एक बड़ी समस्या होती है। भीषण गोलाबारी और फायरिंग के दौरान यह स्विच एक्टिवेट हो जाता है, जो इस उपकरण की प्रमुख कमजोरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वीओएक्स