DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गूगल क्रोम

गूगल क्रोम ब्राउजर को गूगल ने रिलीज किया था। गूगल क्रोम को सिक्योरिटी, स्पीड और स्थायित्व के लिहाज से बनाया गया था। क्रोम का सबसे प्रमुख फीचर इसकी स्पीड और एप्लीकेशन परफॉर्मेस हैं। ब्राउजर की वेबसाइट के अनुसार, देखने में ये क्लासिकल गूगल होमपेज की तरह, यह तेज और स्पष्ट है। 

गूगल क्रोम का इस्तेमाल करने पर सीधे खाली पेज नहीं खुलेगा बल्कि ब्राउजर यूजर द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल की गई साइट को खोलेगा। इसका प्रमुख फायदा ये होगा कि यूजर अपने मनचाहे पेजों को जल्दी नेविगेट कर सकेगा।

ओमनीबॉक्स का फायदा यह है कि आप बिना गूगल खोल, गूगल में सर्च कर सकेंगे। उदाहरण के तौर पर एड्रेस बार में सिर्फ ओलंपिक डालते ही उससे संबंधित वेबसाइट खोल देगा। साथ ही अधूरे और गलत एड्रेस को रिकवर करने की सुविधा भी इसमें है।

इस ब्राउजर में मौजूद टास्क मैनेजर आइकन से इस बारे में जानकारी मिल जाएगी, कि किस प्रोसेस में कितनी मेमोरी का प्रयोग हो रहा है। साथ ही अगर कोई वेबसाइट नहीं चल रही तो उससे दूसरी साइट पर फर्क नहीं पड़ेगा।

वहीं क्रेश रिकवरी के द्वारा सिस्टम के अचानक बंद हो जाने पर और फिर खोलने पर यह आपसे पूछेगा कि क्या आप उस पेज पर पुन: आना चाहते हैं या फिर नया पेज खोलना चाहते हैं। इनकॉग्निटो की वजह से आपका आईपी एड्रेस लीक नहीं होगा जिससे आपकी सिक्योरिटी बढ़ जाएगी। कुछ साइट ऐसी हैं, जहां आप पहली बार किसी चीज को लोड करेंगे, तो समय कम लगेगा, फिर जितनी बार आएंगे, समय बढ़ता जाएगा। प्रत्येक साइट को उसको सर्फ करने वाले के बारे में जानकारी उसके आईपी एड्रेस से मिलती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गूगल क्रोम