DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इम्यून सिस्टम

इम्यून सिस्टम किसी भी जीवित प्राणी के शरीर के अंदर की वह प्रक्रिया होती है जो उस प्राणी को रोगों से बचाती है। यह बाहरी वायरसों और अन्य जीवाणुओं से शरीर की रक्षा करती है और बीमारियों को पहचान कर पैथोजेन्स और टय़ूमर सेल्स को समाप्त करती है।

शरीर के इम्यून सिस्टम में खराबी आने से बीमारी शरीर में प्रवेश कर जाती है। इम्यून सिस्टम में खराबी को इम्यूनोडेफिशिएंसी कहते हैं। इम्यूनोडेफिशिएंसी या तो किसी जेनेटिक बीमारी के कारण होता है, या फिर यह दवाओं या इन्फेक्शन के कारण होता है। जिसका एक उदाहरण है एक्वायर्ड इम्यूनो डेफिशिएंसी सिंड्रोम (एड्स) जो एचआईवी वायरस के कारण फैलता है। इसके विपरीत ऑटोइम्यून बीमारियां एक उत्तेजित ऑटो इम्यून सिस्टम के कारण होती हैं जो अति साधारण ऊतकों को बाहरी जीव समझकर उन पर आक्रमण करता है।

इम्यूनोलॉजी नामक अध्ययन में इम्यून सिस्टम संबंधी सभी बड़े-छोटे कारणों की जांच की जाती है। इसमें इम्यून सिस्टम पर आधारित सेहत के पक्ष और विपक्ष संबंधी कारणों का पता लगाया जाता है। इम्यून सिस्टम संबंधी खोज अभी जारी हैं और दुनिया भर में चल रही खोजों के आधार पर इस से संबंधित ज्ञान में इजाफा किया जाता है।

इम्यून सिस्टम हरेक पौधे और जानवरों में मिलता है। जीवों को इम्यून सिस्टम के कई बैरियर बीमारियों से बचाते हैं, इनमें मैकेनिकल, कैमिकल और बायोलॉजिकल बैरियर्स हैं। लेकिन जीवित प्राणी जिस तरह अपने बाहरी वातावरण से कट कर नहीं रह सकते, उसी कारण शरीर के अन्य सिस्टम फेफड़ों और आंतों को बाहरी हमलों से बचाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इम्यून सिस्टम