DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

4जी

लाइव हिन्दुस्तान टीम
Tue, 03 Nov 2009 09:57 PM
4जी

थ्री जी तकनीक ने भारत में पूरी तरह से कब्जा जमा भी नहीं पाया था कि वायरलैस कंपनियों ने 4जी तकनीक मुहैया कराने की बात कर बाजार में हलचल मचा दी है।

क्या है 4जी : 4जी वायरलैस सेवा की चौथी पीढ़ी है। थ्री जी तकनीक में ओएफडीएमए (आर्थोगोनल फ्रीक्वेंसी डिवीजन मल्टीपल एक्सेस) की सहायता से नेटवर्क की सुविधा को और बेहतर बनाया जा सकेगा। फोर जी पूरी तरह से आईपी आधारित सेवा होगी। इसमें वॉयस, डाटा और मल्टीमीडिया को समान गति से भेजा और रिसीव किया जा सकेगा।

कैसे बेहतर थ्री जी से : हालांकि थ्री जी मोबाइल में वह सब सुविधाएं मौजूद हैं जो तकनीक की दुनिया को ही बदल कर रख देंगी। फोर जी की गति 100 एमबीपीएस होगी जो थ्री जी के मुकाबले 50 गुना अधिक होगी। थ्री जी वायरलेस नेटवर्क में 384 केबीपीएस से 2 एमबीपीएस की गति से ही डाटा भेजा जा सकता था। साथ ही इस तकनीक की कीमत भी थ्री जी के मुकाबले कम होगी। थ्री जी के मुकाबले 4जी का डाटा रेट ज्यादा है यानी डाटा का ट्रांसफर तेज गति से किया जा सकेगा। थ्री जी तकनीक जहां वाइड एरिया नेटवर्क पर काम करती है, वहां 4जी लोकल एरिया नेटवर्क (लैन) और बेस स्टेशन वाइड एरिया नेटवर्क पर काम करती है।

फायदा : यूजर को हाई क्वालिटी ऑडियो और वीडियो सुविधा उपलब्ध होगी।
- ओएफडीएम (आर्थोगोनल फ्रीक्वेंसी डिवीजन मल्टीपल एक्सेस) की वजह से बेहतर वीडियो क्वालिटी लोगों को मिल पाएगी।
- इससे स्पीड बढ़ने के साथ, यूनीफॉर्म भी हो जाएगी। मसलन जितनी तेजी से डाटा भेजा जाएगा, उतनी तेजी से रिसीव किया जा सकेगा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें