DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मासों में सर्वश्रेष्ठ पुरुषोत्तम

पुरुषोत्तम मास का क्या महत्व है?  
-अनामिका सिन्हा, लखनऊ, उत्तर प्रदेश

हिन्दू धर्म में महीनों के रूप में जहां चंद्र मास को माना जाता है, वहीं वर्ष के रूप में सौर मास को ही महत्व दिया गया है। सौर वर्ष लगभग 365 दिन 6 घंटे का होता है तथा चंद्र वर्ष 354 दिन का होता है। निरयन सौर वर्ष तथा चंद्रमास में 11 दिन का अंतर होता है, इसीलिए अधिकमास या मलमास की व्यवस्था बनाई गई है। इस वर्ष 17 जून से 16 जुलाई तक अधिकमास होगा। इस मास में जो व्रत करता है, उसके सारे पाप नष्ट हो जाते हैं और मनोवांछित फल मिलता है। व्रती की लक्ष्मी अनुकूल होती हैं। इस मास में ब्रह्म मुहूर्त में भगवान पुरुषोत्तम का ध्यान करें तथा विधिपूर्वक स्नान कर व्रत का नियम ग्रहण करें और  भगवान विष्णु का जप करें। घर में जप करने से एक गुना, नदी के तट पर दूना, गोशाला में हजार गुणा, अग्निहोत्र गृह में एक हजार एक सौ गुणा, शिव के क्षेत्रों में, तीर्थों में, देवताओं के निकट तथा तुलसी के निकट करने पर लाख गुणा और भगवान विष्णु के निकट जप करने पर अनंत फल मिलता है। ‘ऊं नमो भगवते वासुदेवाय’ मंत्र से षोडशोपचार से विधिवत पूजा करें। इससे संपूर्ण मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इस मास में वस्त्र, अन्न, गुड़ व घी का दान करने से सारे दोष दूर होते हैं। नदियों में गंगा, पक्षियों में गरुड़ तथा मासों में पुरुषोत्तम मास श्रेष्ठ है।

अधिकमास में सूर्य संक्रमण होने के कारण वह मंगल कार्यों हेतु शुभ नहीं माना गया। लोग इसकी निंदा करने लगे। 12 महीनों, कलाओं, क्षण, उत्तर व दक्षिण अयन, संवत्सर आदि ने भी अपमान किया। इससे दुखी अधिकमास भगवान विष्णु के पास गया तो भगवान ने कहा- चिंता मत करो और उन्होंने आशीर्वाद दिया कि यह मास उनके नाम से प्रसिद्ध होगा। वायु पुराण के अनुसार, मगध सम्राट वसु द्वारा बिहार के राजगीर में अधिकमास में वाजपेय यज्ञ कराया गया था। इसमें वसु के पितामह ब्रह्मा सहित सभी देवी-देवता आए थे। एक और कथा है- राजा हिरण्यकश्यपु ने ब्रह्मा से वरदान मांगा था कि रात-दिन, प्रात:-सायं तथा 12 मास में से किसी भी मास में उसकी मृत्यु न हो। इसी कारण विष्णुजी ने 13वें मास का निर्माण किया। वायु पुराण के अनुसार इस मास में सारे देवी-देवता राजगीर में वास करते हैं। आज भी राजगीर में अधिकमास का मेला लगता है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मासों में सर्वश्रेष्ठ पुरुषोत्तम