DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपका प्रभाव जमा देंगी ये बातें

क्या आपको पता है कि आपके साथी का अप्रेजल आपसे बेहतर क्यों हुआ? एक अच्छा अप्रेजल आपके अच्छे प्रभावों का भी नतीजा होता है। ऑफिस में प्रभाव अच्छा बना रहे,  इसके लिए कुछ बातें अनिवार्य रूप से अपनानी होंगी। बता रहे हैं वीरेंद्र कपूर

ऑफिस में एक आदर्श कर्मचारी की छवि बनाने में आपका दृष्टिकोण भी बहुत मायने रखता है। आपकी बातों से ऑफिस और काम के प्रति आपका नजरिया प्रकट होता है। ऑफिस के 90 प्रतिशत कर्मचारी नजरिये के महत्व से अनभिज्ञ होते हैं। यहां कुछ ऐसे तरीके दिये जा रहे हैं, जिनसे आप ऑफिस में अपना प्रभाव जमा सकते हैं।

वक्त का महत्व समझें
अगर आप ट्रेन या फ्लाइट पकड़ने और फिल्म देखने समय पर पहुंच सकते हैं तो फिर ऑफिस भी समय पर पहुंच सकते हैं। चाहे मीटिंग हो या ऑफिस का सामान्य दिन, नियत समय से दस मिनट पहले पहुंचने वाले कर्मचारी को हमेशा ही सम्मान की नजरों से देखा जाता है।

काम का निबटारा फटाफट
काम निर्धारित समय से पहले ही निबटाने की आदत डालें। इसमें तरह-तरह के रिमाइंडर्स की मदद ले सकते हैं। अपनी वरीयताएं निर्धारित करें। टाइम मैनेजमेंट का अभ्यास करें। इस तरह योजना बनाएं कि हमेशा कुछ अतिरिक्त समय आपके पास बचे।

समय रहते सूचना का महत्व
कई बार ऐसा भी होगा कि आप अपना काम समय रहते करने में असमर्थ होंगे। इसके कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में अपने अधिकारियों को समय रहते सूचित करना बहुत जरूरी होता है। अंतिम समय में सूचित करना उनकी परीक्षा लेने जैसा होता है। कार्य समय पर पूरा न कर पाने का कारण जरूर बताएं, ताकि वह भी अपने अधिकारियों को बता सकें।

जिम्मेदार बनें
ऑफिस संबंधी ईमेल पर अपना प्रत्युत्तर देना एक उत्तरदायित्व होता है। याद रखिए कि किसी ने आपको लिख कर कुछ संदेश दिया है तो उसका प्रत्युत्तर देना शिष्टाचार है। वैसे भी उस व्यक्ति को कैसे पता चलेगा कि आपने वह संदेश पढ़ लिया है?  इसके लिए प्रत्युत्तर देना ही होगा। ईमेल, टेक्स्ट मैसेज या फोन, किसी भी माध्यम से प्रतिक्रिया जरूर दें।

दो और दो को पांच बनाएं
जितना काम करने को दिया जाए, उतना ही कर देना। इसका गणितीय समीकरण है  दो और दो बराबर चार। लेकिन यह तो सब करते हैं। आपको इसे पांच करना है। इसके लिए जो काम चुनौतीपूर्ण लगते हैं, उन्हें करने का जिम्मा लें। काम पूरा करने के लिए जरूरी काम करने के साथ उसमें कुछ एक्स्ट्रा जोड़ने की आदत बनाएं।

सौम्य और सुंदर
कोई आपकी सीट पर आए तो खड़े होकर बात करना, हैलो-हाय और थैंक्यू जैसे शिष्टाचार व औपचारिकताएं- ये हैं तो बहुत छोटी चीजें, लेकिन प्रभाव बनाने में बड़े काम की हैं। चाहे सहकर्मी हो या बॉस, दूसरों से मिलने वाली जानकारी उनके लिए महत्वपूर्ण होती है। इसलिए व्यवहार को मधुर और खुद को भी सुदर्शन बना कर रखिए। याद रखिए आपकी प्रतिष्ठा आपके आगे-आगे चलती है।

व्यवस्थित बनें
व्यवस्थित लोग विश्वसनीय भी माने जाते हैं। अगर आप दूसरों से जब-तब पेन-पेंसिल या नोटबुक मांगते दिखते हैं तो यह आपकी विश्वसनीयता को कम करता है। अपने पास हमेशा इन चीजों की उपलब्धता रखें। अपनी ड्रॉर को भी समय-समय पर साफ करते चलें। अपनी सीट और आसपास की जगहों पर भी सामान बिखरा न रहने दें।
(लेखक सिम्बॉयसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, पुणे के पूर्व डायरेक्टर हैं)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आपका प्रभाव जमा देंगी ये बातें