DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिडिल स्कूल खोकसाहा के गुरुजी अब बनेंगे प्रोफेसर

समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर प्रखंड के मिडिल स्कूल खोकसाहा के शिक्षक राजाराम महतो ने नेट यूजीसी में प्रथम प्रयास में ही सफलता हासिल की है। उनकी सफलता से नियोजित शिक्षकों में उत्साह का माहौल है। नेट के परिणाम में श्री महतो को कुल 188 अंक मिले हैं। इससे पहले श्री महतो केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा भी उत्तीर्ण कर चुके हैं। एसटीइटी उत्तीर्ण करने के बाद उनका चयन उच्च विद्यालय के लिए शिक्षक पद पर हुआ था। किन्तु उन्होंने योगदान नहीं दिया। हिन्दी से एमए कर चुके श्री महतो की अभिरुचि सामाजिक कायार्ें में भी रही है। शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष के बाद नगर पंचायत प्रारंभिक शिक्षक संघ के उपाध्यक्ष और बिहार ज्ञान विज्ञान समिति के जिला सचिव व ग्रामीण विकास युवा क्लब के अध्यक्ष पद का दायित्व भी ये संभाल चुके हैं। अपनी सफलता से उत्साहित राजाराम उपलब्धि का श्रेय अपने माता, पिता व गुरुजनों को देते हैं। इलाके में गुरुजी के नाम से चर्चित श्री महतो का चयन प्रोफेसर पद पर होने के बाद नियोजित शिक्षकों में यह चर्चा हैं कि पढ़ाने के साथ पढ़ना भी जरूरी है।

पंचायत शिक्षक को मिल रही है बधाई

यूजीसी की परीक्षा में सफल होने वाले पंचायत शिक्षक राजाराम महतो को विभिन्न संगठन ने बधाई दी है। बधाई देने वालों में प्रखंड प्रमुख निर्मला किशोर, जिला पार्षद रीना राय, शिक्षक संघ के रामचन्द्र राय, कुमार गौरव, संजीव कुमार, राकेश कुमार, अमरनाथ चौधरी, नवीन कुमार, कृष्ण कुमार सिंह, रामनाथ कुमार, स्वयंप्रभा, श्याम कुमार केशरी, जगदीश कुमार जग्गा, यूनिक के सचिव अर्जुन कुमार, दूर देहात के अध्यक्ष दिनेश कुमार दिनकर, शीतल पासवान आदि शामिल है।

हिन्दी की सेवा से मिली सफलता

शिक्षक राजाराम महतो हिन्दी की सेवा में सदैव लीन रहते हैं। उनकी दर्जनों रचनायें पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रही हैं। काव्य गोष्ठी के मंचस्थ कवियों में इनका नाम शुमार रहा है। सरपंच रूपांजली कुमारी बताती हैं कि उनकी सफलता के पीछे हिन्दी की भी सेवा शामिल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Middle School Teacher Will Become Professior