DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उलिहातू में बनेगी 150 फीट की बिरसा प्रतिमा, स्टैचू ऑफ उलगुलान की घोषणा

उलिहातू में बनेगी 150 फीट की बिरसा प्रतिमा, स्टैचू ऑफ उलगुलान की घोषणा

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुदेश महतो ने कहा है कि उलिहातू में भगवान बिरसा मुंडा की 150 फीट की प्रतिमा लगेगी। आजसू पार्टी द्वारा मंगलवार को बिरसा की जन्मस्थली में आयोजित ‘बिरसा जन पंचायत कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महतो ने स्टैचू ऑफ उलगुलान की घोषणा की।

महतो ने कहा कि बिरसा मुंडा ने आदिवासी समाज के बीच “उलगुलान” के बीज डाले थे। बिरसा की गौरवगाथा को देश भर में अमर बनाए रखने के लिए स्टैचू ऑफ उलगुलान बनाने का निर्णय इस पंचायत ने लिया है। वर्तमान में भारत की सबसे बड़ी प्रतिमा 135 फीट के हनुमान की है, जो विजयवाड़ा में स्थित है। यदि यह प्रतिमा सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्टैचू ऑफ यूनिटी से पूर्व बन गई तो यह भारत की सबसे बड़ी प्रतिमा होगी।

मौके पर बिरसा मुंडा और सिदो-कान्हू के परिजन भी मौजूद थे। साथ ही बिरसा के अनुयायी बिरसाइत धर्म के लोगों ने भारी संख्या में पांपरिक वेशभूषा में शिरकत की। पंचायत को संबोधित करते हुए महतो ने कहा कि इतिहास के सारे महापुरुषों ने जमीन के लिए संघर्ष किया और शहादत दी। शहीद सिदो-कान्हू का परिवार पहली बार अपने सपनों का झारखंड देखने निकला है। भगवान बिरसा एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक आंदोलन थे। उन्होंने कहा कि जब अंग्रेज आदिवासियों की सुरक्षा के लिए कानून बना सकते हैं तो फिर ऐसी क्या जरूरत है कि आपकी भावनाओं को टेड़ने का प्रयास किया जा रहा है। सीएनटी/एसपीटी एक्ट के रहते झारखंड में सड़के बनी, एचइसी जैसी कंपनियां स्थापित हुई फिर इसमें संशोधन की क्या आवश्यकता है?

हर घर हर गांव से मांगा सहयोग

महतो ने स्टैचू ऑफ उलगुलान के लिए झारखंड के हर घर से सहयोग मांगा। साथ ही हर गांव से पत्थर देने का भी आह्वान किया। उन्होंने प्रतिमा के निर्माण के पीछे अपनी सोच बताते हुए कहा कि राज्य भर में बिरसा की सोच,संघर्ष मूल्यों को दबाने एवं खत्म करने की कोशिश की जा रही है। ऐसे में बिरसा की गाथा को हम इतना उंचा बना देना चाहते हैं कि उनकी सोच और संघर्ष सदा के लिए अमर हो जाएं। कार्यक्रम में शहीदों के परिवारों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित करते हुए कहा कि शहीद के परिवार अब इस राज्य के कर्णधार होंगे। प्रतिमा के निर्माण के लिए एक कमिटी बनायी गई है जिसके संयोजक बिरसा मुंडा के वंशज सुखराम सिंह मुंडा होंगे।

जन पंचायत को संबोधित करते हुए बिरसा मुंडा के वंशज सुखराम मुंडा ने कहा कि बिरसा मुंडा जिन अधिकारों के लिए बलिदान हुए सरकार उसे हमसे छिन रही है यह हम नहीं होने देंगे। यदि हमें अपने अधिकारों के लिए दूसरी बार भी उलगुलान करना पड़े तो हम करेंगे। उन्होंने बिरसा जन पंचायत कार्यक्रम के आयोजन के लिए सुदेष महतो का आभार व्यक्त किया। रामदुर्लभ सिंह मुंडा द्वारा जमीन दान दिए जाने पर सुखराम मुंडा ने तहे दिल से धन्यवाद दिया।

विधायक विकास मुंडा ने कहा कि हुल क्रांति के पूर्वज हमारी धरती पर पधारे हैं यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है। अब हम सब आत्मविश्वास के साथ मिलकर काम करेंगे। सीएनटी एवं एसपीटी एक्ट में संशोधन के विरूद्घ लड़ाई को बल मिला है।

बिरसा जन पंचायत को संबोधित करते हुए सुदेश महतो द्वारा जमीन उपलब्धता के संबंध मे आह्वान किया गया, तुरंत ही भीड़ से आवाज आई “मै दूँगा जमीन”। राम दुर्लभ सिंह मुण्डा ने कहा इस पुनित कार्य के लिए जमीन उपलब्ध कराना मेरे लिए सौभाग्य की बात है।

बिरसा मुंडा के परिवार को भोगनाडीह आने का निमंत्रण

सिदो-कान्हू परिवार से इंजीनियर बन कर निकले मंडल मुर्मू ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने जमीन बचाने के लिए अपनी कुर्बानी दे दी। आज यदि एक बार फिर हमें अपनी जमीन, पहचान, स्वाभिमान और हक के लिए कुर्बानी देने की जरूरत पड़े तो मंडल मुर्मु भी कुर्बान हो जाएगा। मंडल मुर्म ने बिरसा मुंडा के परिवार को सिदो-कान्हू के पैतृक गांव भोगनाडीह आने का आमंत्रण दिया। डॉ देवशरण भगत ने पंचायत में धन्यवाद देते हुए कहा कि बिरसा की धरती ने आज इतिहास लिखा है।

जन की बात अभियान का समापन: स्थानीय नीति तथा सी़एऩटी़/एसपीटी एक्ट में संशोधन के मुद्दे को लेकर आठ अगस्त शहीद निर्मल महतो के शहादत दिवस के उपलक्ष्य में आजसू पार्टी द्वारा जन की बात अभियान का शुरुआत की गई थी। यह अभियान 15 नवम्बर बिरसा जयंती तक अलग-अलग चरणों में चला। इस अभियान में लाखों लोगों द्वारा पोस्टकार्ड एवं अन्य माध्यमों से मुख्यमंत्री से स्थानीय नीति में संशोधन की मांग की। कार्यक्रम में डॉ अजय मलकानी की मंडली द्वारा भगवान बिरसा पर आधारित नाटक का मंचन किया गया तथा मुकुंद नायक की मंडली द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम में डॉ देवशरण भगत, उमाकांत रजक, हसन अंसारी, डोमन सिंह मुण्डा, मुनचुन राय, विजय साहू, मुकुंद मेहता, सुधा देवी, बनमाली मंडल, अनिल महतो, सहित कई वरीय नेता उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:150 feet statue of mirsa munda will make in ulihatu