DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाओं के हक में लिए कई अहम फैसले

इमारत ए शरिया के काजी शरीयत जशीमुद्दीन रहमानी ने महिलाओं के हक के लिए कई सारे अहम फैसले लिए। उन्होंने कई ऐसी महिलाओं को न्याय दिलाने वाले फैसले दिए, जिनका निकाह के 10-20 साल हो गए और उनके पति को कोई अता-पता ही नहीं था।

कुरआन हदीस की रोशनी में वैसी महिलाओं का पहला निकाह खत्म किया और दूसरे की इजाजत दी ताकि वे अपनी जिंदगी खुशी से गुजार सकें। कइयों की जिंदगी बनाई। न केवल महिलाओं के हक व हकूक के लिए काम किए, बल्कि आपसी भाईचारा का भी संदेश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news breif