DA Image
9 जुलाई, 2020|6:16|IST

अगली स्टोरी

लॉ कॉलेज में प्रिंसिपल नहीं होने पर पीयू से जवाब-तलब

बगैर प्रिंसिपल के कोई भी लॉ कॉलेज नहीं चल सकता, लेकिन राज्य में कई लॉ कॉलेज बगैर प्रिंसिपल के चल रहे हैं। पटना लॉ कॉलेज में नियमित प्राचार्य नहीं है।

कई जगहों पर वर्षों से प्रिंसिपल के पद पर बने हुए हैं। इस मुद्दे पर पटना हाईकोर्ट ने पीयू से जवाब-तलब किया है। अदालत ने पटना विश्वविद्यालय को चार सप्ताह के भीतर जवाब देने का आदेश दिया है। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजेंद्र मेनन तथा न्यायमूर्ति सुधीर सिंह की खंडपीठ ने मामले पर सुनवाई की। अधिवक्ता दीनू कुमार का कहना था कि कई लॉ कॉलेज बगैर प्रिंसिपल के चल रहे हैं, जबकि कानून इस बात की इजाजत नहीं देता है। यहां तक कि पीयू के प्रतिष्ठित पटना लॉ कॉलेज में नियमित प्राचार्य नहीं है।

पीयू का बचाव करते हुए अधिवक्ता सोनी श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया कि पटना लॉ कॉलेज में प्रिंसिपल का पद रिक्त नहीं है। इसके बाद अदालत ने पीयू को अर्जी में उठाए गए सभी सवालों का जवाब चार सप्ताह के भीतर देने का आदेश दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ask question from PU after not finding principal in Law college