DA Image
4 जून, 2020|7:21|IST

अगली स्टोरी

जोकोविच और फेडरर में होगा ‘ड्रीम फाइनल’

जोकोविच और फेडरर में होगा ‘ड्रीम फाइनल’

विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने गत चैंपियन मारिन सिलिच पर और विश्व के दूसरे नंबर के खिलाड़ी स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर ने हमवतन स्टेनिसलास वावरिंका पर सेमीफाइनल मुकाबले में जीत दर्ज कर वर्ष के आखिरी ग्रैंड स्लेम यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट में एक दूसरे के खिलाफ ड्रीम ‘फाइनल’ सुनिश्चित कर लिया। 
        
शीर्ष वरीय जोकोविच ने नौंवी वरीय और गत चैंपियन क्रोएशिया के सिलिच को लगातार तीन सेटों में 6-0, 6-1, 6-2 से एकतरफा अंदाज में हराया जबकि दूसरी सीड फेडरर ने अपने अच्छे दोस्त और पांचवीं सीड वावरिंका को तीन सेटों में 6-4, 6-3, 6-1 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया।
        
विश्व के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच के सामने अब पांच बार के यूएस ओपन चैंपियन फेडरर की चुनौती होगी। यह इस वर्ष दूसरा मौका होगा जब जोकोविच और फेडरर ग्रैंड स्लेम फाइनल में एक दूसरे के खिलाफ उतरेंगे। इससे पहले वर्ष के तीसरे ग्रैंड स्लेम विंबलडन चैंपियनशिप में जोकोविच ने फेडरर को खिताबी मुकाबले में हराया था। ऐसे में इस बार यूएस ओपन फाइनल में फेडरर के पास बदला लेने का मौका होगा और टेनिस प्रशंसकों को एक बार फिर दोनों नंबर एक और नंबर दो खिलाड़ी के बीच हाईवोल्टेज मुकाबला देखने को मिलेगा।

नौ बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन जोकोविच ने उसी कोर्ट पर सिलिच को हराकर लगातार चौथे ग्रैंड स्लेम फाइनल में जगह बनाई जहां उनसे पहले वर्ष की नंबर एक खिलाड़ी सेरेना विलियम्स और दूसरे नंबर की सिमोना हालेप महिला एकल सेमीफाइनल में उलटफेर का शिकार हुई थीं। लेकिन पुरुष एकल में नंबर एक और दो खिलाड़ियों ने किसी उलटफेर से बचते हुए आसानी से फाइनल का टिकट कटाया।
         
वर्ष 2011 के यूएस ओपन चैंपियन जोकोविच ने मात्र 85 मिनट में सिलिच के खिलाफ मुकाबला जीतकर गत चैंपियन खिलाड़ी को बाहर कर दिया। इस जीत के साथ सर्बियाई खिलाड़ी ने नौंवीं सीड सिलिच के खिलाफ अपने विजयी रिकॉर्ड को 14-0 पहुंचा दिया। यदि जोकोविच फेडरर के खिलाफ खिताबी मुकाबला जीत जाते हैं तो यह उनका वर्ष का तीसरा ग्रैंड स्लेम होगा। जोकोविच ने इस वर्ष ऑस्ट्रेलियन ओपन और विंबलडन खिताब जीते हैं। 
        
इससे पहले 17 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन स्विटजरलैंड के फेडरर ने हमवतन वाविरका को 92 मिनट में हराकर छह वर्षों में अपने पहले यूएस ओपन फाइनल में जगह बनाई। दूसरी सीड फेडरर ने अभी तक यूएस ओपन में कमाल का प्रदर्शन करते हुए एक भी सेट नहीं गंवाया है और 34 वर्ष की उम्र में वह अपने जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं। इस जीत से उनका और वावरिंका के बीच जीत हार का रिकॉर्ड 17-3 हो गया है।
        
स्विस खिलाड़ी ने वर्ष 2012 में विंबलडन के बाद से कोई ग्रैंड स्लेम खिताब नहीं जीता है और उनके पास 18वें ग्रैंड स्लेम के साथ तीन वर्ष के ग्रैंड स्लेम सूखे को खत्म करने का भी मौका होगा। इसके साथ ही वह जोकोविच से विंबलडन की खिताबी हार का बदला भी चुकता कर सकते हैं। फेडरर ने आखिरी बार वर्ष 2008 में यूएस ओपन पुरुष एकल खिताब जीता था।

फेडरर ने डेविस कप टीम के साथी खिलाड़ी पर जीत के बाद आर्थर एश स्टेडियम में कहा कि मैं बहुत ही खुश हूं। यह एक बेहतरीन टूर्नामेंट है। मैंने पिछले छह वर्षों में कड़ी मेहनत की है ताकि मैं यूएस ओपन के फाइनल में जगह बना सकूं। स्विस खिलाड़ी ने वर्ष 2004, 2005, 2006 ,2007 और 2008 में लगातार यूएस ओपन खिताब जीते थे जबकि वह वर्ष 2009 में उपविजेता रहे थे।   
       
अनुभवी स्विस खिलाड़ी ने मैच में वावरिंका के खिलाफ 10 एस लगाए और जबरदस्त प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि मैं अच्छी सर्विस कर रहा था और काफी सकारात्मकता के साथ खेल रहा था। मैंने अपने शॉट्स अच्छे खेले और मुझे लगता है कि यह काम आ रहा है। मुझे बस एक बार और मेहनत करने की जरूरत है।
        
फेडरर और जोकोविच के बीच फाइनल को लेकर अभी से काफी उम्मीदें पैदा हो गई हैं। जोकोविच ने फाइनल को लेकर पूछे जाने पर कहा कि जब भी मेरा और फेडरर का मैच होता है तो उम्मीदें काफी अधिक होती हैं। मैं यहां पर एक लक्ष्य के साथ आया हूं और फाइनल में पहुंच चुका हूं अब मेरा लक्ष्य ट्रॉफी है।
      
जोकोविच ने छठी बार यूएस ओपन के फाइनल में जगह बनाने के बाद कहा कि मैं अब फाइनल में एक कदम ही दूर हूं और मुझे इसके लिए प्रयास करना होगा ताकि मेरा हाथ ट्रॉफी तक पहुंच सके। जोकोविच के हाथों मैच गंवाने वाले गत चैंपियन सिलिच का इसी के साथ लगातार 12 मैच जीतने का सिलसिला भी टूट गया। हालांकि हार के बाद क्रोएशियाई खिलाड़ी ने कहा कि उनके पैर में चोट थी जिसकी वजह से उन्हें खेलने में दिक्कत हुई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:जोकोविच और फेडरर में होगा ‘ड्रीम फाइनल’