Preparation of Online Counseling in Engineering and Management Colleges - इंजीनियरिंग व प्रबंधन कॉलेजों में ऑनलाइन काउंसलिंग की तैयारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियरिंग व प्रबंधन कॉलेजों में ऑनलाइन काउंसलिंग की तैयारी

नोएडा। संवाददाता

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) से संबद्ध कॉलेजों में प्रवेश के लिए इस बार ऑनलाइन काउंसलिंग होगी। विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से इस बार 15 जून से काउंसलिंग प्रस्तावित है। ऑनलाइन काउंसलिंग होने से छात्रों को भागदौड़ से राहत मिलेगी।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि छात्रों की सुविधा के लिए इस बार ऑनलाइन काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू कराने का विचार किया जा रहा है। कॉलेजों में सत्र 2017-18 में होने वाले इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कोर्स में दाखिले के लिए राज्य प्रवेश परीक्षा (एसईई) की काउंसलिंग ऑनलाइन होने से छात्रों को काउंसलिंग सेंटर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अभी तक एकेटीयू की ओर से एसईई की काउंसिलिंग के लिए पूरे प्रदेश में 150 से अधिक काउंसिलिंग सेंटर बनाए जाते रहे हैं। काउंसलिंग में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों को नजदीकी काउंसिलिंग सेंटर पर जाकर पंजीकरण कराना पड़ता था। इसके बाद अभ्यर्थी काउंसिलिंग प्रक्रिया में शामिल हो हो पाते थे। इस बार विश्वविद्यालय की ओर से प्रक्रिया को बदलने की तैयारी की जा रही है।

पंजीकरण शुल्क से छुटकारा

अभी तक अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग में शामिल होने के लिए सेंटर पर जाकर पंजीकरण कराने के दौरान 500 रुपये फीस जमा करनी पड़ती थी। अब ऑनलाइन काउंसलिंग होने से छात्रों को यह फीस नहीं जमा करनी पड़ेगी।

कॉलेज में सत्यापन होगा

विश्वविद्यालय की नई प्रक्रिया के तहत अब ऑनलाइन काउंसिलिंग के माध्यम से च्वाइस लॉक किए जाने के बाद अभ्यर्थियों को मेरिट के हिसाब से सीट उपलब्ध करा दी जाएगी। इसके बाद अभ्यर्थियों को संबंधित कॉलेज में जाकर अपने शैक्षिक प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराना होगा। सीट लॉक करने के दौरान फीस जमा करनी होगी। इससे दाखिला न लेने पर अभ्यर्थियों की फीस नहीं फंसेगी।

सीट छोड़ नहीं सकेंगे

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि अभी तक अभ्यर्थी एक कॉलेज में सीट लॉक करने के बाद दूसरे कॉलेज में दाखिले के लिए प्रयास करता था। इसके बाद जब उस दूसरे कॉलेज में सीट उपलब्ध हो जाती थी, तब वह पहले लॉक की गई सीट को छोड़ देता था। ऐसे में कॉलेजों की सीटें कई बार खाली रह जाती थीं। इस बार अभ्यर्थी को जिस कॉलेज में सीट उपलब्ध होगी वह वहीं दाखिला ले सकेंगे।

सरकारी कॉलेजों के लिए स्पॉट काउंसलिंग

सरकारी और सहायता प्राप्त कॉलेजों की खाली सीट को भरने के लिए स्पॉट काउंसिलिंग कराई जाएगी। स्पॉट काउंसलिंग के दौरान सभी सीट सामान्य वर्ग की होगी। ऑनलाइन काउंसिलिंग के लिए पंजीकरण न कराने वाले छात्र इसमें शामिल नहीं हो सकेंगे।

अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए इस बार ऑनलाइन काउंसिलिंग की तैयारी की जा रही है। अभ्यर्थियों को कॉलेज में शैक्षिक प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराना होगा। जो कॉलेज आवंटित होगा वहीं पर दाखिला लेना होगा।

- डॉ. विनय कुमार पाठक, कुलपति, एकेटीयू

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparation of Online Counseling in Engineering and Management Colleges