फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़निर्भया कांड के दोषी का इंटरव्यू लेने के मामले में रिपोर्ट दर्ज

निर्भया कांड के दोषी का इंटरव्यू लेने के मामले में रिपोर्ट दर्ज

दिल्ली पुलिस ने 16 दिसम्बर सामूहिक बलात्कार मामले में एक दोषी के विवादास्पद साक्षात्कार के सिलसिले में आज प्राथमिकी दर्ज की। साथ ही पुलिस ने कहा कि साक्षात्कार के प्रसारण पर रोक के लिए वह अदालत का...

निर्भया कांड के दोषी का इंटरव्यू लेने के मामले में रिपोर्ट दर्ज
एजेंसीWed, 04 Mar 2015 09:18 AM

दिल्ली पुलिस ने 16 दिसम्बर सामूहिक बलात्कार मामले में एक दोषी के विवादास्पद साक्षात्कार के सिलसिले में आज प्राथमिकी दर्ज की। साथ ही पुलिस ने कहा कि साक्षात्कार के प्रसारण पर रोक के लिए वह अदालत का दरवाजा खटखटाएगी।

प्राथमिकी में किसी को नामित नहीं किया गया है लेकिन दिल्ली पुलिस के आयुक्त बी़ एस़ बस्सी ने कहा कि मुख्य व्यक्ति वह है जिसने ये बयान दिए हैं और मीडिया से अपील की कि ऐसे किसी बयान का प्रसारण नहीं करे जो कानून की सीमा को लांघता हो।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, यह जघन्य अपराध था। हर किसी को ध्यान रखना चाहिए कि एक अपराध की रिपोर्टिंग से कानून की सीमा का अतिलंघन नहीं हो और अगर ऐसा होता है तो कानून को अपना काम करना पड़ेगा।

ब्रिटेन की फिल्म निर्माता लेस्ली उडविन और बीबीसी द्वारा किए गए साक्षात्कार में बस चालक मुकेश सिंह ने कहा कि रात में बाहर निकलने वाली महिलाएं अगर दुराचारी पुरूषों के गिरोह को आकर्षित करती हैं तो इसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार हैं। 16 दिसम्बर 2012 को चलती बस में 23 वर्षीय पैरामेडिकल की छात्रा से जिन छह लोगों ने दुष्कर्म किया उस बस का चालक मुकेश ही था।

मुकेश ने कहा था, बलात्कार के लिए लड़के से कहीं ज्यादा जिम्मेदार लड़की होती है । मुकेश ने यह भी कहा था कि अगर लड़की और उसके दोस्त ने प्रतिरोध नहीं किया होता तो गिरोह उन्हें गंभीर रूप से जख्मी नहीं करता जिस कारण बाद में लड़की की मौत हो गई थी।

राजनाथ ने मुकेश के इंटरव्यू पर मांगी पूरी रिपोर्ट

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुकेश सिंह से तिहाड़ जेल में एक ब्रिटिश फिल्मकार द्वारा साक्षात्कार करने पर आज कड़ा ऐतराज जताया और जेल प्रमुख से इस पूरे मुददे पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हिरासत में मुजरिम से साक्षात्कार किए जाने की घटना को गंभीरता से लेते हुए गृहमंत्री ने तिहाड़ जेल के महानिदेशक आलोक कुमार वर्मा से बात की और उनसे इस घटना पर तत्काल विस्तत रिपोर्ट मांगी।

सूत्रों के मुताबिक टेलीफोन पर बातचीत के दौरान जेल महानिदेशक ने गृहमंत्री को घटना के बारे में और उस संबंध में अब तक की गयी कार्रवाई के बारे में बताया। मीडिया में खबर आयी है कि ब्रिटिश फिल्मकार लेसली उडविन और बीबीसी को बस ड्राइवर मुकेश सिंह से साक्षात्कार करने की अनुमति दी गयी थी।

मुकेश सिंह को 16 दिसंबर, 2012 की रात को 23 साल की एक लड़की से नशंस सामूहिक बलात्कार करने और उसकी हत्या करने के जुर्म में मत्युदंड सुनाया गया है। साक्षात्कार में मुकेश ने कहा था कि रात को घर से निकलने वाली महिलाओं पर यदि छेड़खानी करने वाले पुरूषों के गिरोह का ध्यान जाता है तो उसके लिए केवल वे महिलाएं ही जिम्मेदार हैं।

उसने कहा था, बलात्कार के लिए एक लड़के से ज्यादा लडकी जिम्मेदार है। मुकेश ने यह भी कहा था कि यदि लड़की और उसके दोस्त भिड़ने की कोशिश नहीं करते तो गिरोह उसकी ऐसी वहशी मार-पिटाई नहीं करते जिससे बाद में उसकी (लड़की की) मौत हो गयी।

हत्या को दुर्घटना करार देते हुए उसने कहा था कि जब बलात्कार किया जा रहा था तो उसे भिड़ना नहीं चाहिए था। उसे चुपचाप रहना चाहिए था और बलात्कार होने देना चाहिए था। ऐसे में वे उसे कहीं बाद में उतार देते और बस लड़के की पिटाई करते।

निर्भया के परिवारने की निन्दा

निर्भया के परिजनों ने इस मामले में दोषी ठहराये गये मुजरिम मुकेश सिंह द्वारा वारदात के लिये लड़की को ही जिम्मेदार बताने वाले बयान की कड़ी निन्दा करते हुए उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बात कही है।

लड़की की मां ने आज बताया कि उनकी बेटी के गुनहगार मुकेश का बयान बेहद शर्मनाक और कानून का मजाक उड़ाने वाला है। यह कानूनी प्रक्रिया के लचीलेपन का नतीजा है कि जेल में बंद होने के बाद भी मुजरिम अपनी घिनौनी हरकत को उचित ठहराने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर आरोपियों को मिली सजा पर जल्द अमल हो जाता तो मुकेश ऐसी बात कहने की हिम्मत नहीं कर पाता। साथ ही, लड़कियों तथा महिलाओं से होने वाली खौफनाक घटनाओं पर भी रोक लगाने में मदद मिलती।

लड़की के भाई ने भी इस बयान की कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि परिवार मुकेश के इस बयान के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा। उन्होंने मीडिया पर भी दोषी व्यक्ति के बयान को तरजीह देकर उसे महिमामंडित करने का आरोप लगाया। कहा कि जिस तरह से मीडिया ने उस बयान को दिखाया, वह निन्दनीय है।

epaper