DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्रीय राज्यमंत्री ने खत्म करवाई वकीलों की हड़ताल

अपहरण के प्रयास और सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में दो वकीलों पर दर्ज हुए मामलों को रद्द करवाने के विरोध में चल रही हड़ताल को जिला बार एसोसिएशन ने सोमवार को केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के आश्वासन पर वापस ले लिया।11 जून से जिला बार एसोसिएशन की हड़ताल चल रही थी।

सोमवार को जिला बार एसोसिएशन के प्रधान जेपी अधाना ने हड़ताल को लेकर वकीलों के साथ बैठक की, जिसमें वकीलों ने हड़ताल को जारी रखने का निर्णय लिया। करीब सवा दस बजे अचानक अदालत परिसर में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर पहुंच गए। उन्होंने वकीलों से हड़ताल वापस लेने की अपील की।

केंद्रीय राज्य मंत्री ने वकीलों को आश्वासन दिया कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस की तानाशाही नहीं चलने दी जाएगी। जांच में दोषी पाए जाने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।

उधर, शनिवार को बार काउंसिल की एनरोलमेंट कमेटी के चेयरमैन ओपी शर्मा ने हड़ताल को अवैध बताकर सोमवार से कामकाज शुरू करने की घोषणा कर रखी थी। झगड़े की आशंका को देखते हुए सोमवार को अदालत परिसर में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

क्या था मामला:

10 जून को ओल्ड फरीदाबाद थाना, पुलिस ओल्ड फरीदाबाद पूर्ण इंक्लेव निवासी वर्कशॉप मालिक यशपाल मलिक का कथित तौर पर अपहरण का प्रयास होने पर उसे बचाकर थाने ले आई थी। इस पर थाने में 150 लोग जमा हो गए। ये लोग वर्कशॉप मालिक को अपने हवाले करने की मांग कर रहे थे।

जब पुलिस ने वर्कशॉप मालिक को उनके हवाले नहीं किया तो लोगों ने तत्कालीन ओल्ड थाना एसएचओ की गिरेबां पकड़ ली। मारपीट भी कर दी। इस पर पुलिस ने भीड़ पर बल प्रयोग करने के बाद अपहरण का प्रयास और सरकारी कार्य में बाधा डालने के दो मामले दर्ज किए थे। इन दोनों मामलों में दो वकील फंस गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केंद्रीय राज्यमंत्री ने खत्म करवाई वकीलों की हड़ताल