DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समय रहते पता नहीं चलता तो हो सकती थी, ट्रेन दुर्घटना

मुजफ्फरनगर और खतौली के बीच सोंटा रेलवे फाटक के पास शनिवार शाम को नशेड़ी की हरकत से सुपरफास्ट एक्सप्रेस और जनशताब्दी समेत कई ट्रेनों को रोकना पड़ा। नशेड़ी ने पत्थर मारकर रेलवे ट्रैक का टी मोटर बॉक्स तोड़ दिया।

यदि समय रहते इसका पता न चलता तो भीषण ट्रेन दुर्घटना हो सकती थी। जीआरपी ने मौके से आरोपी को रंगे हाथ दबोच लिया। मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन से सिग्नल इंजीनियर रामधन के नेतृत्व में देर शाम पहुंची टीम ने टी मोटर बॉक्स की मरम्मत कर ट्रेनों के आवागमन सुचारु कराया। इस टी मोटर बॉक्स से ही ट्रेन की लाइन बदली जाती है।

जीआरपी के अनुसार शनिवार शाम करीब पांच बजे उन्हें एक राहगीर ने सूचना दी कि एक युवक नशे में सोंटा रेलवे फाटक के निकट टी मोटर बॉक्स पर पत्थर मारकर उसे तोड़ रहा है। जीआरपी पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और नशेड़ी युवक को पकड़ लिया।

टी मोटर बॉक्स टूटने से सिग्नल देने और और ट्रेनों की लाइन बदलने में बाधा आ गई।

सूचना मिलते ही दिल्ली की ओर से आ रही सुपरफास्ट एक्सप्रेस और जनशताब्दी एक्सप्रेस को खतौली से आगे रोक दिया गया। यही हाल मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन का भी रहा। वहां से गुजरने वाली पैसेंजर ट्रेन समेत नौचंदी लिंक को रोक दिया गया।

उधर, सूचना मिलते ही सिग्नल इंजीनियर रामधन के नेतृत्व में मौके पर पहुंची टीम ने करीब एक घंटे के प्रयास के बाद टी मोटर बॉक्स को ठीक किया तब कही जाकर ट्रेनों का संचालन बहाल हुआ।

सुपरफास्ट एक्सप्रेस और जनशताब्दी समेत कई ट्रेनों को रोकना पड़ा। नशेड़ी ने पत्थर मारकर रेलवे ट्रैक का टी मोटर बॉक्स तोड़ दिया। यदि समय रहते इसका पता न चलता तो भीषण ट्रेन दुर्घटना हो सकती थी। जीआरपी ने मौके से आरोपी को रंगे हाथ दबोच लिया।

मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन से सिग्नल इंजीनियर रामधन के नेतृत्व में देर शाम पहुंची टीम ने टी मोटर बॉक्स की मरम्मत कर ट्रेनों के आवागमन सुचारु कराया। इस टी मोटर बॉक्स से ही ट्रेन की लाइन बदली जाती है।

जीआरपी के अनुसार शनिवार शाम करीब पांच बजे उन्हें एक राहगीर ने सूचना दी कि एक युवक नशे में सोंटा रेलवे फाटक के निकट टी मोटर बॉक्स पर पत्थर मारकर उसे तोड़ रहा है। जीआरपी पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और नशेड़ी युवक को पकड़ लिया। टी मोटर बॉक्स टूटने से सिग्नल देने और और ट्रेनों की लाइन बदलने में बाधा आ गई।

सूचना मिलते ही दिल्ली की ओर से आ रही सुपरफास्ट एक्सप्रेस और जनशताब्दी एक्सप्रेस को खतौली से आगे रोक दिया गया। यही हाल मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन का भी रहा। वहां से गुजरने वाली पैसेंजर ट्रेन समेत नौचंदी लिंक को रोक दिया गया।

उधर, सूचना मिलते ही सिग्नल इंजीनियर रामधन के नेतृत्व में मौके पर पहुंची टीम ने करीब एक घंटे के प्रयास के बाद टी मोटर बॉक्स को ठीक किया तब कही जाकर ट्रेनों का संचालन बहाल हुआ।


पकड़ा गया नशेड़ी युवक

जीआरपी के अनुसार टी मोटर बॉक्स को क्षतिग्रस्त करने वाला युवक ब्रजवीर निवासी अलमासपुर थाना नई मंडी का निकला। पूछताछ में पता चला कि युवक शराब के साथ ही नशे की गोलियों खाता है। वह टी मोटर बॉक्स से लोहा निकालने के प्रयास में था। जीआरपी उससे पूछताछ कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:समय रहते पता नहीं चलता तो हो सकती थी, ट्रेन दुर्घटना