facebook friendship to swindle two naijirian arrested - फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले दो नाईजीरियन गिरफ्तार DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले दो नाईजीरियन गिरफ्तार

फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले दो नाईजीरियन गिरफ्तार

फेसबुक पर फर्जी महिला का प्रोफाइल बनाकर लोगों से दोस्ती कर धोखाधड़ी करने के मामले में पुलिस ने दो नाइजीरियन और एक वेस्ट बंगाल की महिला को गिरफ्तार किया है। साइबर सेल से दोनों नाइजीरियन को बुधवार को कोर्ट में पेश कर दो दिन की पुलिस रिमांड पर ले लिया है। इस मामले में राजेन्द्रपार्क थाना पुलिस ने दो जनवरी को केस दर्ज किया था। एक नाइजीरियन जामिया में बीसीए पढ़ाई है। दोनों के बीजा एक्सपायर कर चुके हैं।

साइबर क्राइम सेल के प्रभारी आनंद कुमार ने बताया कि तीन जनवरी को टीम ने गुप्त सूचना और टेक्नीकल जांच के आधार पर फेसबुक पर फर्जी लड़की का अकाउंट बनाकर युवकों के साथ दोस्ती करके धोखाधडी कर पैसे ठगी के मामले में एक महिला को दिल्ली एरिया से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने महिला से पूछताछ के बाद नाईजीरियन इब्राहिम और केनेथ (छात्र)  को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। पूछताछ के दौरान पता चला कि नाईजीरियन फेसबुक पर फर्जी अकाउन्ट बनाकर लड़की बनकर युवकों से दोस्ती कर फंसाते थे। फेसबुक पर विदेशी बनकर युवकों से अच्छी दोस्ती करते थे। 

बाद में महंगे गिफ्ट और नकद पैसा कोरियर से भेजने के बहाने कहते कि आपका कोरियर एयरपोर्ट पर फंस गया है। सामान छुड़ाने लिए कस्टम फीस के बहाने दोस्त से पैसे अपने किसी बैंक अकाउंट में डलवा लेते थे। पैसों को महिला साथी के खाते में डलवाते थे और उसको उसका हिस्सा देकर बाकी रकम खुद ले लेते थे। साइबर सेल के प्रभारी आनंद ने बताया कि महिला को मंगलवार को भोंडसी जेल भेज दिया गया था। दोनों नाईजीरियन को बुधवार को अदालत करके पूछताछ हेतू दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। पूछताछ के दौरान आईटी सेल को ऐसे कई मामलों के खुलने की उम्मीद है। इनकी गिरफ्तारी के बारे नाईजीरियन एम्बेंसी को सूचित किया जा चुका है। महिला आरोपियों को कमीशन पर कमरे दिलाने और ठगी में सहयोग करती थी। कैनन जामिया से बीसीए की पढ़ाई कर रहा है।दोनों बिना बीजा के भारत में चोरी छिपे रह रहे थे।

पूछताछ में होती है परेशानी-
नाइजीरियन से पूछताछ में पुलिस को भाषा की समस्या आती है। दूसरा नाइजीरियन शातिर बदमाश होते और पुलिस को जल्द जानकारी नहीं देते। ऐसे में पुलिस को अन्य मामलों की जानकारी लेने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है। 

क्या है मामला-
एक निजी कंपनी में कार्यरत हितेश व्यास ने राजेन्द्रपार्क थाना पुलिस में दी शिकायत दी कि कुछ माह पहले फेसबुक पर जान पहचान लंदन यूके निवासी लड़की से हुई। एक माह बाद युवती ने हितेश से कहा कि लैपटॉप और सोने की घड़ी उपहार में भेजने की बात कही थी। 13 दिसंबर को हितेश के पास मोना नामक लड़की का फोन आया था। कस्टम ड्यूटी के नाम पर 35 हजार रुपये मांगे थे। अगले दिन फिर मोना ने फोन कर बताया कि इनकम टैक्स ने कोरियर रोक लिया और 72,500 रुपये जमा कराने की बात कहीं। तीसरी बार पैसे मांगने पर हितेश को शक हो गया था। 

बचे ऐसे लोगों-
साइबर सेल के प्रभारी ने बताया कि सोशल साइट पर अज्ञात लोग के फ्रेड्स रिक्वेस्ट स्वीकार न करें,अपनी जानकारी दूसरे से शेयर न करे। झूठे उपहार से बचे।

11 अप्रैल-2016
सुशांतलोक निवासी अलका शर्मा से तीन नाइजीरियन 15 लाख रुपये ठग लिए थे। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि फेसबुक के माध्यम से नाईजीरियन गिरोह के सदस्य से संपर्क हुआ। अपना परिचय यूके के नागरिक के रुप में देते हुए भारत में कराड़ों रुपये निवेश करने की बात कही थी। दोनों की वाट्सअप पर बातचीत होने लगी। एयरपोर्ट पर कस्टम के बहाने ठगी किया था। पुलिस तीन को गिरफ्तार किया था।

तीन में 100 से अधिक साइबर मामले दर्ज हुए थे-
गुरुग्राम में साल के अंत में साइबर अपराधों की बाढ़ से आ गई। सात के तीन दि में करीब सौ से अधिक लाटरी, एटीएम,खाते की जानकारी लेकर,क्रेडिट कार्ड से धोखाधड़ी के मामले आए थे। 30 दिसंबर को 20 मामले, 31 दिसंबर 50 मामले, एक जनवरी को 30 मामले आए थे। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:facebook friendship to swindle two naijirian arrested