DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीयू: ग्रेड पाने वाले प्रतिशत में भरें अंक

डीयू: ग्रेड पाने वाले प्रतिशत में भरें अंक

जिन छात्रों को 12वीं में अंक की जगह ग्रेड मिले हैं, उन्हें डीयू के आवेदन फॉर्म में बेस्ट फोर के अंक प्रतिशत भरने होंगे। ऐसे छात्रों के लिए विश्वविद्यालय ने हर ग्रेड का अंक तय किया है।

नए नियम के अनुसार, जिन्हें ए ग्रेड मिला है उनके 100 से 90 फीसदी अंक माने जाएंगे। यानी उन्हें 100 से 90 फीसदी के बीच कटऑफ आने पर सीट मिल जाएगी। बी ग्रेड का मतलब 90 से 75 फीसदी अंक, सी ग्रेड का मतलब 75 से 60 फीसदी अंक, डी ग्रेड जिन्होंने हासिल किया है उनके 60 से 40 फीसदी अंक माने जाएंगे। इसके अलावा ई ग्रेड का मतलब 40 से 30 फीसदी अंक हैं।

वहीं विदेशी संस्थानों से 12वीं की पढ़ाई करने वालों के लिए भी ग्रेड का नया फॉर्मूला बनाया गया है। इतना ही नहीं, ऐसे बोर्ड के छात्र जो जियोलॉजी ऑनर्स और एंथ्रोपोलॉजी ऑनर्स की सीट पाना चाहते हैं उनके लिए यह जरूरी है कि उन्होंने 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स व बॉयोलॉजी में से कम से कम कोई एक विषय जरूर पढ़ा हो।

अहम बात यह है कि छात्र चाहें तो बेस्ट फोर में तीन गैर-अकादमिक विषय भी शामिल कर सकते हैं, लेकिन ऐसा करने पर तीन विषयों में प्रति विषय 2.5 फीसदी अंक की कटौती होगी। इसके बाद बेस्ट फोर का अंक अंतिम माना जाएगा। गृह विज्ञान को अकादमिक विषय में शामिल किया गया है। वहीं फिजिकल साइंस ऑनर्स करने पर फिजिकल साइंस को बतौर अकादमिक विषय बेस्ट फोर में शामिल किया जा सकेगा। ऐसा करने पर अंक में कटौती नहीं होगी।

10वीं तक क्षेत्रीय भाषा पढ़ने पर 05 फीसदी अंक होंगे कम: नए नियम के तहत अगर किसी ने 10वीं में बांग्ला, उडिया, संस्कृत, उर्दू व पंजाबी आदि क्षेत्रीय भाषाएं पढ़ी हैं और उसी भाषा में स्नातक करना चाहता है तो उसके 12वीं के बेस्ट फोर में पांच फीसदी अंक कम माने जाएंगे। यदि उसके अंक 70 फीसदी हैं तो डीयू 65 फीसदी अंक के आधार पर सीट जारी करेगा। इसके अलावा बीकॉम ऑनर्स और इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए 12वीं में गणित विषय पढ़ा होना जरूरी है। यही नहीं, कॉलेज गणित में निश्चित अंक की भी मांग नहीं कर सकते हैं। बीकॉम व इकोनॉमिक्स ऑनर्स कोर्स के लिए 12वीं के गणित में सिर्फ पास होना जरूरी है। नियम सभी कॉलेज लागू करेंगे।

इंप्रूवमेंट वाले भी भरें फॉर्म
ऐसे छात्र जिनकी 12वीं में कंपार्टमेंट आई है या फिर वे इंप्रूवमेंट की परीक्षा देना चाहते हैं, वे भी स्नातक की सीटों के लिए आवेदन कर सकते हैं। दरअसल, सीबीएसई बोर्ड समेत विभिन्न बोर्ड में कंपार्टमेंट और इंप्रूवमेंट की परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू होने वाली है।

बेस्ट फोर में तीन और विषय
कौन से विषय अकादमिक हैं या कौन से नहीं, डीयू इन तमाम विषयों की सूची वेबसाइट पर जारी करेगा। सीबीएसई बोर्ड के विषयों के मुताबिक सूची जारी होगी। वहीं विश्वविद्यालय ने साफ किया है कि बेस्ट फोर में एक लैंग्वेज और तीन अकादमिक विषय शामिल होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DU: Fill in grades mailing percentage points