फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi Newsनीति आयोग की बैठक के बाद जयपुर लौटीं वसुंधरा, किसी बड़े नेता से नहीं हुई मुलाकात

नीति आयोग की बैठक के बाद जयपुर लौटीं वसुंधरा, किसी बड़े नेता से नहीं हुई मुलाकात

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे नयी दिल्ली में नीति आयोग की बैठक में भाग लेने के बाद जयपुर वापस लौट आईं हैं। आईपीएल के पूर्व आयुक्त ललित मोदी की मदद को लेकर उठे विवाद में घिरीं राजस्थान की...

नीति आयोग की बैठक के बाद जयपुर लौटीं वसुंधरा, किसी बड़े नेता से नहीं हुई मुलाकात
नीति आयोग की बैठक के बाद जयपुर लौटीं वसुंधरा, किसी बड़े नेता से नहीं हुई मुलाकात
एजेंसीSat, 27 Jun 2015 02:37 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे नयी दिल्ली में नीति आयोग की बैठक में भाग लेने के बाद जयपुर वापस लौट आईं हैं।

आईपीएल के पूर्व आयुक्त ललित मोदी की मदद को लेकर उठे विवाद में घिरीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे नीति आयोग की एक बैठक में शामिल होने के लिए आज दिल्ली पहुंचीं थीं।

समझा जा रहा था कि ललित मोदी विवाद के सिलसिले में इस्तीफे के लिए विपक्ष के बढ़ते दबाव के बीच राजे दिल्ली में भाजपा के आलाकमान के सामने अपना पक्ष रखेंगी।

कल ही भाजपा की राजस्थान इकाई ने उन पर लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि मोदी के आव्रजन आवेदन के समर्थन में वसुंधरा के हस्ताक्षर वाला दस्तावेज कभी अदालत में पेश ही नहीं किया गया क्योंकि वसुंधरा इससे पीछे हट गयी थीं।

पार्टी की राज्य इकाई ने यह भी दावा किया कि वसुंधरा के पुत्र के होटलों की श्रंखला में ललित मोदी द्वारा किया गया निवेश कानूनी है और प्राधिकारियों को इस बारे में बताया गया था।

समझा जाता है कि पार्टी के शीर्ष नेतत्व ने राजे का पक्ष स्वीकार कर लिया है। कल इस मुददे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरूण जेटली से चर्चा की थी।

कांग्रेस ने वसुंधरा राजे पर ललित मोदी की मदद करने का आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफे की मांग की है।

पूरे विवाद को लेकर वसुंधरा ने चुप्पी साध रखी है हालांकि उनके कार्यालय ने उन पर लगाए गए आरोपों को गलत बताते हुए दावा किया है कि राजे को राजनीतिक रूप से नुकसान पहुंचाने के लिए ये आरोप लगाए गए हैं।

भाजपा का कहना है कि वह वसुंधरा राजे का पूरी तरह समर्थन करती है। पार्टी ने उन्हें राज्य में ऐसी सबसे बड़ी और सर्वाधिक लोकप्रिय नेता बताया है जिनके नेतत्व में पार्टी ने विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में उल्लेखनीय जीत हासिल की।

जयपुर में भाजपा के कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री आर एस राठौर ने कहा था कि राजे नीति आयोग की एक उप समिति की बैठक में शामिल होंगी।

वसुंधरा राजे ने इस बैठक में भाग लेने के लिए लंदन यात्रा की अपनी योजना रदद कर दी थी। उन्हें कल लंदन जाना था। ललित मोदी विवाद सामने आने के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा की यह पहली दिल्ली यात्रा है।

वसुंधरा राजे के काफिले की एक कार को टीवी चैनल के वाहन ने टक्कर मारी

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के काफिले के एक वाहन ने टक्कर मार दी। यह घटना उस समय घटी तब वह नयी दिल्ली जाने के लिए हवाई अडडा जा रही थीं।

मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार, राजे के काफिले की कार को मार्ग बाधित कर रहे टीवी चैनल के एक वाहन ने टक्कर मार दी। हालांकि इस घटना में किसी के घायल होने की कोई जानकारी नहीं हैं।

अपने बयान में सीएमओ ने कहा, राजे का काफिला जब हवाई अडडे की ओर बढ़ रहा था को इलेक्ट्रानिक मीडिया के वाहन उसके पीछे चल रहे थे तब कुछ स्थानों पर दुर्घटना की स्थिति पैदा हो गई।

मुख्यमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, अनियंत्रित रूप से वाहन चलाने के कारण कुछ स्थानों पर जाम जैसी उत्पन्न हो गई क्योंकि कुछ टीवी चैनल के सदस्य उनकी कार का पीछा करने और करीब जाने का प्रयास कर रहे थे।

इसमें आरोप लगाया गया है कि टीवी चैनल के सदस्य काफी तेज रफ्तार से वाहन चला रहे थे।

सीएमओ ने कहा, मीडियाकर्मियों से अपनी और दूसरों की सुरक्षा का भी ध्यान रखने का आग्रह किया जाता है। हम आपके लिए चिंतित हैं, हम संवाददाता सम्मेलन बुलाते हैं और प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हैं और आपके सवालों के उत्तर देते हैं। हम आगे भविष्य में भी इसका पालन करेंगे।

इसमें कहा गया है, क्या मीडिया की भूमिका सही है? मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा जाता है।

इस बारे में सम्पर्क करने पर जयपुर पुलिस आयुक्त ने कथित दुर्घटना और ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति पर कुछ भी कहने से इंकार किया।