DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाटों का ऐलान, घेरेंगे पीएम और मंत्रियों के घर

जाटों का ऐलान, घेरेंगे पीएम और मंत्रियों के घर

जाट आरक्षण महापंचायत में जाटों ने केंद्र सरकार को जुलाई तक का अल्टीमेटम देते हुए प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों का घर घेरने का ऐलान कर दिया है। आरक्षण संघर्ष समिति के नेता यशपाल मलिक ने कहा कि आरक्षण के लिए पहले से बड़े आंदोलन के लिए तैयार हैं। जुलाई तक केंद्र सरकार ने कानून बनाकर जाटों को केंद्रीय सेवाओं में आरक्षण न दिया तो फिर दिल्ली की बिजली-पानी, रेल और सड़क रोक दी जाएंगी। दिल्ली के चारों तरफ यूपी, हरियाणा, राजस्थान के लड़ाके होंगे। सिर्फ यूपी में ही एक लाख लड़ाके तैयार किए जाएंगे।

मेरठ के पीएल शर्मा स्मारक में रविवार को जुटे यूपी के 21 और उत्तरखंड के 4 जिलों के जाटों ने महापंचायत में दस बड़े प्रस्ताव पास किए। यशपाल मलिक ने कहा कि 17 मार्च को आए कोर्ट के फैसले से आरक्षण खत्म होने के बाद हजारों युवाओं का भविष्य चौपट हो गया है। 26 मार्च को प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष ने जाटों को बुलाकर इस मामले में ठोस कदम उठाने का भरोसा दिया था। इसके बावजूद, अब तक कुछ होता नहीं दिख रहा है। अब जाटों के सामने देशव्यापी आंदोलन के सिवा कोई विकल्प नहीं है।

आंदोलन की तैयारी के लिए मलिक ने मानवेन्द्र वर्मा को प्रदेश अध्यक्ष बनाते हुए सभी जिलों में नई कार्यकारिणी के गठन की घोषणा कर दी। नए प्रदेश अध्यक्ष मानवेन्द्र वर्मा ने कहा कि जाट बलिदान को तैयार हैं। इस मौके पर नए मुख्य महासचिव बीरपाल राणा, राष्ट्रीय महामंत्री बीएस अहलावत, धर्मपाल सिंह सदर, ब्रहमपाल सिंह एडवोकेट, बिजेन्द्र प्रमुख, जितेन्द्र सतवाई, नीरा तोमर आदि मौजूद रहे।

यह भी करेंगे
हर जिले का अलग फेसबुक, ट्विटर अकाउंट होगा। ब्लॉक स्तर तक कमेटियां व्हाट्सएप ग्रुप बनाएंगी। टोल फ्री नंबर 180030023455 पर कॉल करने के तीन दिन के अंदर संघर्ष समिति के नेता खुद संपर्क करेंगे। दस रुपये सदस्यता शुल्क रखा गया है।

17 मार्च के पहले वालों को नौकरी दो
जाट महापंचायत में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कर उन नौजवानों को ओबीसी कोटे में ही नौकरी एवं दाखिले दिए जाने की मांग की गई जिन्होंने कोर्ट के आदेश के पहले ही सारी परीक्षाएं, इंटरव्यू आदि पास कर लिए हैं। ऐसा नहीं हुआ तो फिर 16 जून को जाट धर्मशाला नांगलोई दिल्ली में महापंचायत करके जुलाई में प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों के घर घेरेंगे। अगस्त में राष्ट्रीय कार्यकारिणी बुलाई जाएगी। नेताओं ने दावा किया कि इस मुद्दे पर संयुक्त जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष ज्ञानेन्द्र काकरान, रणसिंह शौकीन, पुष्पेन्द्र चौधरी एवं अन्य जाट संगठनों ने भी कंधे से कंधा मिलाकर आंदोलन का भरोसा दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जाटों का ऐलान, घेरेंगे पीएम और मंत्रियों के घर