DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेनों की छतों पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल

ट्रेनों की छतों पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल

सोलर प्लेन के तर्ज पर अब भारत सोलर ट्रेन चलाने की योजना बना रहा है। जल्द ही भारत दुनिया को अपने सोलर ट्रेन से आश्चर्यचकित कर देगा। इस ट्रेन में थर्मल पॉवर और सोलर पॉवर दोनों का ही इस्तेमाल किया जाएगा। सोलर पॉवर का उत्पादन करने के लिए ट्रेनों की छत पर सोलर पैनल लगाए जाने की योजना है।

सोलर प्लेन से मिली प्ररेणा
विज्ञान और प्रद्यौगिकी मंत्री हर्षवद्र्धन ने कहा कि उन्हें सोलर ट्रेन के लिए स्विट्रजरलैंड के सोलर इंपल्स प्लेन से प्ररेणा मिली। स्विट्जरलैंड के वैज्ञानिकों द्वारा निर्मिन सोलर इंपल्स की लंबी उड़ान और भारत में ठहराव से सोलर ट्रेन का आइडिया आया। उन्होंने कहा कि सरकार इसे एक गतिमान सोलर पॉवर प्लांट के रूप में देख रही है। सरकार प्रोजेक्ट प्लान बना रही है। इसका डेमो लेने के बाद अन्य महत्वपूर्ण मंत्रालयों के साथ मिलकर विचार-विमर्श किया जाएगा।

मालगाड़ी पर होगा टेस्ट
इस प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले सरकार मालगाड़ियों पर टेस्ट करेगी। टेस्ट में अगर प्रयास सफल रहा तो इसका उपयोग दूसरे ट्रेनों में भी किया जाएगा। राष्ट्रीय सौर ऊर्जा विशेषज्ञ व प्रोजेक्ट इंजीनियर गोन चौधरी ने कहा कि सोलर एनर्जी से ट्रेन अपने चलने के लिए 15 प्रतिशत ऊर्जा उत्पादन कर सकेगी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा जब ट्रेनें स्थिर अवस्था में रहेंगी तब उत्पादित बिजली का 100 फीसदी हिस्सा ग्रिडों में भेज दिया जाएगा। ट्रेनों के गतिमान रहने से पैनलों पर धूल नहीं जमेगी जो बिजली उत्पादन में एक बड़ी बाधा के रूप में सामने आते हैं। photo1

सोलर प्लेन से बेहतर होगी सोलर ट्रेन
एक ट्रेन से लगभग 150 केवी ऊर्जा का उत्पादन होगा। इससे रेलवे की आमदनी भी होगी। जब ट्रेन उपयोग में नहीं होंगे तब ग्रिड को यह बिजली बेचकर रेलवे पैसे कमा सकेगी। विशेषज्ञ के मुताबिक इस नजरिए से देखा जाए तो सोलर प्लेन से कहीं ज्याद सोलर ट्रेन से लोगों और सरकार दोनों को फायदा होगा। इससे ट्रेनों का किराया भी सस्ता हो सकेगा।

सरकार की योजना
केंद्र सरकार का एजेंडा अक्षय ऊर्जा स्रोतों के इस्तेमाल से ऊर्जा का उत्पादन करने है। ऐसे में आने वाले आठ सालों में 100 गीगावाट ऊर्जा का उत्पादन करने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें से 40000 मेगावाट ऊर्जा छतों के ऊपर लगे सोलर पैनल से बनाई जाएगी। ऐसे में ट्रेनों के ऊपर लगे सोलर पनैलों से उत्पादित ऊर्जा से रेलवे ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में सरकार की मदद भी कर सकेगी।

15 फीसदी ऊर्जा ट्रेन के संचालन में होगी इस्तेमाल
100 फीसदी ऊर्जा ट्रेन के उपयोग न होने की स्थिति में जाएगी ग्रिड को

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेनों की छतों पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल