DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लापता डॉर्नियर विमान के संकेत मिले

लापता डॉर्नियर विमान के संकेत मिले

करीब पांच दिनों की गहन तलाश के बाद शनिवार को तटरक्षक बल के लापता डॉर्नियर विमान के संकेत मिले। अधिकारियों के मुताबिक सोमवार रात से लापता इस विमान के संकेत सोनार से सुसज्जित सर्वेक्षण पोत को मिला है। साथ तेल रिसाव का पता चला है। हालांकि, सकेंत लापता विमान के ही हैं इसकी पुष्टि के लिए और प्रयोग किए जा रहे हैं।  
तटरक्षक के पूर्वी कमान के कमांडर महानिरीक्षक एसपी शर्मा ने शनिवार को संकेत मिलने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि आईएनएस संध्यक ने संभवत: लापता विमान से सिग्नल पाए हैं। उन्होंने बताया कि जो सिग्नल मिले हैं वे सोनार लोकेटिंग बीकन के हैं, जो लापता विमान में लगा है और 30 दिन तक लगातार सिग्नल भेज सकता है। शर्मा के मुताबिक आईएनएस संध्यक को गुरुवार रात को खोज अभियान में लगाया गया था। इसने अपना अभियान करइक्कल-कुड्डालोर तट के नजदीक शुरू किया। पोत के सोनार ने सागर में गहराई तक सिग्नल भेजे और विमान से सिग्नल प्राप्त किए। यह सिग्नल वहीं से मिल रहे हैं, जहां से विमान का संपर्क टूटा था। 

तटरक्षक ने बताया कि घटना स्थल से संभावित क्षेत्र में कई रंगों का तेल देखा गया है। इससे तेल रिसाव के संकेत मिले हैं। बल ने कहा कि तेल के नमूने को विश्लेषण के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है। समुद्री गहराई में तलाश के लिए आईएनएस सिंधुध्वज नामक पनडुब्बी भी पहुंच रही है। इसके अलावा राष्ट्रीय सागर प्रौद्योगिकी संस्थान ने अपने शोध पोत सागर निधि को भी अभियान में सहयोग के लिए भेजा है, जो रविवार को क्षेत्र में पहुंचेगा। गौरतलब है कि सोमवार शाम साढे पांच बजे नियमित उड़ान भरने के बाद रात 9:23 बजे विमान से संपर्क टूट गया। विमान पर चालक दल के तीन सदस्य सवार थे।

वृहद तलाशी
- 110 घंटों तक नौसेना, तटरक्षक बल, कई राज्यों की एजेंसियों और मछुआरों की कोशिश से मिली शुरुआती सफलता
- 15 नौसेना और तटरक्षक बल के पोत, एक पनडुब्बी, डॉर्नियर विमान और हेलीकॉप्टर की ली जा रही थी मदद
- 200 तटरक्षक, नौसेना और पुलिस के जवानों के साथ 300 से अधिक मछुआरें भी पूरे इलाके को खंगाल रहे थे

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लापता डॉर्नियर विमान के संकेत मिले