DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में दुष्कर्म पीड़िताओं का नहीं होगा टू फिंगर टेस्ट

दिल्ली में दुष्कर्म पीड़िताओं का नहीं होगा टू फिंगर टेस्ट

दुष्कर्म पीडिताओं की ‘दो-अंगुलियों’ से की जाने वाली जांच के संबंध में अस्पतालों को जारी किए गए सर्कुलर पर हो रही आलोचना के बाद दिल्ली सरकार ने सोमवार को इसे वापस लेने का फैसला किया।
स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली सचिवालय में कहा कि सरकार ने दुष्कर्म पीडिताओं की दो अंगुलियों से जांच कराने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में यौन उत्पीडित की दो अंगुलियों से की जाने वाली जांच पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। हम इस संबंध में आज अधिसूचना जारी कर रहे हैं।’ मंत्री ने कहा कि 14-पृष्ठों के सर्कुलर में प्रिंटिंग में गलतियां हुई थीं।
29 मई को अस्पतालों को पर वजाइनल (पीवी) परीक्षण या दो अंगुलियों से की जाने वाली जांच का उल्लेख करते हुए सर्कुलर में कहा गया था कि पीडिताओं की सहमति पर जांच की जा सकती है। जैन ने कहा कि जांच संबंधी परामर्श विशेष कमेटी की रपट के आधार पर वितरित की गई है। इसका गठन मार्च 2014 को पूववर्ती सरकार ने किया था। कुछ सामाजिक कार्यकर्ता लंबे समय से दो अंगुलियों की जांच पर पूरी तरह प्रतिबंध की मांग कर रहे हैं।
सर्वोच्च न्यायालय ने मई, 2013 को कहा था कि यह परीक्षण पीडिता के निजता के अधिकार का हनन है और सरकार को यौन अपराधों की जांच के लिए बेहतर चिकित्सा व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली में दुष्कर्म पीड़िताओं का नहीं होगा टू फिंगर टेस्ट