DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी सरकार रोजगार देने की जगह करा रही योगः राहुल

मोदी सरकार रोजगार देने की जगह करा रही योगः राहुल

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राजग सरकार से पूरे नहीं हुए वादों से ध्यान बांटने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से उनकी दोस्ती पर सवाल उठाते हुए भी उन पर निशाना साधा। 

राहुल ने यहां एक रैली में यह कहते हुए राज्य के लिए कांग्रेस को एक व्यावहारिक विकल्प के रूप पेश करने की कोशिश की कि उनकी पार्टी पश्चिम बंगाल की तकदीर बदल देगी। राज्य में 2016 में विधानसभा चुनाव होने हैं।

भाजपा और ममता बनर्जी की तणमूल कांग्रेस के बीच अच्छे रिश्ते का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि जब हमारी (संप्रग) सरकार थी और हमारे प्रधानमंत्री बांग्लादेश जाना चाहते थे, तब हमने उनसे (ममता बनर्जी से) बातचीत की थी और उनसे हमारे साथ चलने का अनुरोध किया था। उन्होंने कहा था, नहीं, एकला चलो रे।

राहुल गांधी ने कहा कि अब, मोदी जी वहां (सत्ता में) हैं, अतएव अब कोई एकला चलो नहीं। हम साथ चलेंगे। यह क्यों हो रहा है यह दोस्ती किस बात को लेकर है आप कारण अवश्य समझ रहे होंगे। ममता बनर्जी मोदी की बांग्लादेश यात्रा के दौरान ढाका में है।

बीस मिनट से अधिक देर के भाषण में राहुल गांधी ने संप्रग की पूर्व सहयोगी ममता बनर्जी की यह कहते हुए आलोचना की कि पश्चिम बंगाल को वाम शासन के अत्याचार से मुक्त कराने के अपने वायदे के उलट उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद उसे दोगुणा कर दिया है।

कांग्रेस और तणमूल कांग्रेस ने 2011 का पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ा था और इसी के साथ राज्य में 35 सालों से चला आ रहा वाम शासन समाप्त हुआ था।

प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने उन पर अपने वादे नहीं पूरा करने का आरोप लगाया और मोदी सरकार को धनवानों का समर्थक एवं गरीब किसान विरोधी के रूप में पेश करने के लिए सूट-बूट की सरकार का अपना कथन दोहराया।

उन्होंने भूमि विधेयक को लेकर भी राजग सरकार की आलोचना की और इस संदर्भ में नंदीग्राम, भट्टा परसौल और नियामगिरि के कषकों और जनजातीय आंदोलनों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि एक साल पहले दिल्ली में एक नई सरकार आई। उसने ढेर सारे वादे किए जैसे ममताजी ने किए थे। उसने रोजगार, विकास, फैक्ट्रियां खोलने की बात की। दोनों (मोदी और ममता) ने यह बात कही। एक साल अब पूरा हो गया है।
     
राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने (बाद में) स्वच्छता की बात की। उन्होंने कहा कि आपको रोजगार नहीं मिलेगा, अतएव झाड़ू थामिए और झाड़ू लगाना शुरू कीजिए। जब स्वच्छता की चर्चा पूरी हो गई तब वह कह रहे हैं कि राजपथ पर जाइए और योग कीजिए। रोजगार के बारे में कोई चर्चा नहीं है। हर रोज कोई नयी बात कही जाती है। ये सारी नयी बातें अधूरे वादों को ढकने के लिए कही जा रही हैं।     

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने वन रैंक वन पेंशन मुद्दे को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा कि संप्रग शासन के दौरान पूर्व जवानों के लिए वन रैंक वन पेंशन के लिए धन दिया गया था। मोदी जी पंजाब, हरियाणा और जगह जगह गए और उन्होंने वादा किया कि यदि उनकी सरकार सत्ता में आयी तो वह एक साल में उसे लागू कर देंगे। अब सेना के लोग चिल्ला रहे हैं। वे प्रदर्शन कर रहे हैं और मांग कर रहे हैं कि उसे लागू करने की कोई तारीख दी जाए।

राहुल गांधी ने कहा कि लेकिन मोदीजी कह रहे हैं कि बाद में हमसे मांगिए क्योंकि हम योग कर रहे हैं। भूमि विधेयक पर मोदी सरकार पर बार बार हमला करते हुए उन्होंने दावा किया कि राजग सरकार उद्योगपतियों को जमीन दे दे तो भी लोगों के लिए नौकरियां नहीं आएंगी।
     
उन्होंने कहा कि उद्योगपति दूर दराज के क्षेत्रों में जमीन नहीं मांग रहे हैं बल्कि गुड़गांव, नोएडा, कोलकाता जैसे स्थानों पर जमीन मांग रहे हैं जहां संपत्ति की कीमत बढ़ रही है।
     
राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि इन इलाकों में जिन किसानों की जमीन अधिग्रहीत की जाए, उन्हें भी जमीन के दामों में वद्धि का लाभ मिले लेकिन राजग सरकार लोगों को उसका लाभ पहुंचाए बगैर ही उद्योगपतियों को जमीन देगी।

उन्होंने वामदलों पर निशाना साधते हुए कहा कि यहां उनके पास संगठन था। देश का बाकी हिस्सा आगे बढ़ा लेकिन यह राज्य अटक गया। उन्होंने तृणमूल और माकपा के चुनाव चिन्हों का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने सोचा था कि जब ममता बनर्जी सत्ता में आएगी तब पत्तियों की मदुता हंसिया और हथौड़ा की चोट का स्थान लेगी लेकिन अब यह स्पष्ट हो गया है कि यह फूल हथौड़े से ज्यादा चोट कर रहा है क्योंकि आम लोगों का उत्पीड़न बढ़ा ही है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी सरकार रोजगार देने की जगह करा रही योगः राहुल