DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व पर्यावरण दिवस पर ये 18 कहानियां आपको सोचने पर मजबूर कर देंगी

विश्व पर्यावरण दिवस पर ये 18 कहानियां आपको सोचने पर मजबूर कर देंगी

इस बार विश्व पर्यावरण दिवस बड़ी चेतावनी दे रहा है। अगर दुनियाभर में प्राकृतिक संसाधनों का सोच-समझकर और संभलकर उपयोग नहीं किया गया, तो धरती लोगों की जरूरतों को पूरा नहीं कर पाएगी। हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे लोगों की कहानियां, जिन्होंने अपनी अनोखी पहल से मिसाल पेश की है...

1. दरिपल्ली 'चेतला' रमैया
जेब में बीज और साइकिल पर पौधे रखकर तेलंगाना के खम्मन जिले में रोज मीलों लंबा सफर तय करते हैं रमैया, खाली जमीन पर रुककर करते हैं पौधारोपण, एक करोड़ से ज्यादा पौधे लगा चुके हैं अब तक।

2. जॉन गैपर
जंगली फूलों के संरक्षण के लिए ब्राइटन में बनाया 'बीज बैंक', घर के बगीचे में पौधे उगाकर उनसे प्राप्त बीज स्थानीय प्रशासन को कराते हैं मुहैया, दुर्लभ प्रजाति की तितलियों को वापस लाने में कारगर हुई उनकी पहल।

3. रॉबर्ट मैठम्स
वायु प्रदूषण से निपटने को 'शिप्ली डॉट कॉम' बनाई, ग्राहकों के बताने पर कि उनका कौन-सा सामान कब और कहां पहुंचाना है कंपनी ड्राइवरों से करती है संपर्क, एक ही वाहन से अलग-अलग लोगों का भिजवाती है सामान।

4. ब्रूस मैकलेनन
2008 में 'इंवर्नेस ग्रीन जिम' की स्थापना की, हर बुधवार को सुबह 10 से 11 बजे तक चलता है सत्र, जिम में ट्रेडमिल पर दौड़ने के बजाय जंगल में पौधारोपण, झाड़ियों की कटाई और साफ-सफाई करते हैं लोग।

5. जादव पेंग
असम में ब्रह्मपुत्र नदी के शोल (रेतीले माधस्थल) पर बांस के पेड़ लगाए, 30 साल में 1,360 एकड़ के दायरे में खड़ा किया माओ जंगल, बाघ, गेंडे, खरगोश और हिरण समेत कई जंगली जानवरों का आशियाना है यह जंगल।

6. राज जनगम
जुई गंगन की मदद से मुंबई में 'साइकिल चलाओ' अभियान की शुरुआत की, इसके तहत मुंलुंद रेलवे स्टेशन पर छात्रों को 3 रुपये के किराये पर दी जाती थी साइकिल, धीरे-धीरे देश के कई हिस्सों में शुरू हुई ऐसी सेवा।

7. जेन लूसी
दोस्त ह्यूग फीयर्न्ले के साथ मिलकर लंदन में 'लैंडशेयर प्रोजेक्ट' की शुरुआत की, इसका मकसद फल-सब्जी उगाने में दिलचस्पी रखने वाले अंग्रेजों को ऐसे लोगों से मिलाना था, जिनकी जमीन खाली पड़ी हुई है।

8. एंड्रयू किंग
1980 के दशक में एथिकल प्रॉपर्टी कंपनी की स्थापना की, अपार्टमेंट खरीदकर उनमें पौधे लगाना और सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देना है मकसद, फ्लैट किराये पर उठाकर वसूलती है अपनी लागत।

9. डेव मिलर
सहकर्मी जिम ब्लैकथॉर्न के साथ 'बाइकवर्क्स' की स्थापना की, पुरानी मोटरसाइकिल की मरम्मत और रिसाइक्लिंग करती है यह कंपनी, पेट्रोल-डीजल की बचत के लिए लोगों को मुफ्त में देती है साइकिल चलाने का प्रशिक्षण।

10. डैरेन टेलर
इकोकंप्यूटरसिस्टम्स डॉट ओआरजी डॉट यूके के संस्थापक हैं डैरेन, बेकार हो चुके कंप्यूटर को रिसाइकिल करती है यह कंपनी, इस्तेमाल योग्य मशीनों की मरम्मत करके बेरोजगारों को मुफ्त में देती है कंप्यूटर का प्रशिक्षण।

11. रतनलाल मालू
40 साल पहले मां की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ राजस्थान पहुंचे रतनलाल ने कीचन में पंछियों को नया आशियाना दिया, वह पत्नी के साथ रोज एक खास इलाके में जाकर अनाज छिड़कते थे, जिसे देख पक्षियों का वहां आना-जाना बढ़ा।

12. बेन सिमन
मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के अपने सहपाठियों के सहयोग से 2011 में 'फूड रिकवरी नेटवर्क' की शुरुआत की, रोज रात को आसपास के शिक्षण संस्थानों की कैंटीन और मेस में बचा खाना इकट्ठा कर अनाथ आश्रम या फूड बैंक तक पहुंचाते हैं।

13. दामोदर कश्यप
ओडिशा के संध करमरी गांव में लोगों को पौधारोपण के लिए प्रेरित किया, 20 साल में खड़ी हो गई आम, महुआ, काजू, चिरौंजी के सैकड़ों पेड़ों की कतार, जंगल का नाम कुलदेवी के नाम पर रखा, ताकि लोग पेड़ काटने से डरें, फल तोड़ने पर मनाही नहीं।

14. ग्रेग वुडबर्न
2006 में 'गिव रनिंग' अभियान का आगाज किया, लोगों से उनके पुराने कपड़े और जूते इकट्ठे कर कूड़े में फेंकने या रिसाइकिल करने के बजाय युगांडा, केन्या और सुडान जैसे गरीब मुल्कों के बच्चों तक पहुंचाते हैं।

15. मेरिट लेटन
दोस्तों के साथ मिलकर अमेरिका में चला रहीं 'प्लास्टिक पैट्रोल', सड़क पर फेंका प्लास्टिक उठाकर कचरे में डालती हैं, घर-घर जाकर लोगों को प्लास्टिक के बजाय कागज के बैग और बर्तन इस्तेमाल करने की भी देती हैं सलाह।

16. क्रिस्टो डूलू
अर्जेंटीना में शुरू की पवन ऊर्जा पर चलने वाली 'द ईको लांड्री', घर-घर जाकर इकट्ठे करते हैं ग्राहकों के कपड़े, कम पानी और इको-फ्रेंडली डिटर्जेंट का इस्तेमाल करने वाली वॉशिंग मशीन में होती है धुलाई।

17. फिलिप चैन
सिंगापुर के सिलिसो बीच रिसॉर्ट के प्रबंधक फिलिप ने वहां न सिर्फ टेरेस गार्डन बनवाया, बल्कि पौधों की सिंचाई के लिए किचेन से निकलने वाले गंदे पानी का इस्तेमाल भी सुनिश्चित किया, पर्यटकों को पानी की बचत के लिए प्रेरित करने को वॉटर टूर भी आयोजित करते हैं।

18. बेन टॉड
लंदन में दुनिया के पहले इको-फ्रेंडली सिनेमाघर 'अरकोला थियेटर' की स्थापना की, इसके लाइट, पंखे, प्रोजेक्टर समेत सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हाइड्रोजन सेल से चलते हैं, कैफे में भी कम बिजली की खपत करने वाली इसी सेल से फिल्टर किया पानी इस्तेमाल होता है
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विश्व पर्यावरण दिवस पर ये 18 कहानियां आपको सोचने पर मजबूर कर देंगी