DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाल ठाकरे ने संजय दत्त को छुड़ाने के लिए दबाव डाला थाः उज्ज्वल निकम

बाल ठाकरे ने संजय दत्त को छुड़ाने के लिए दबाव डाला थाः उज्ज्वल निकम

दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने वर्ष 1993 के सिलसिलेवार बम धमाके मामले में आरोपी फिल्म अभिनेता संजय दत्त को छुड़ाने के लिए दबाव डाला था। लेकिन महाराष्ट्र के तत्कालीन गृह मंत्री गोपीनाथ मुंडे के समझाने के बाद ठाकरे ने संजय को छुड़ाने के अपने फैसले वापस लिए थे। यह खुलासा 1993 के बम धमाके मामले के विशेष सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने पुणे के एक मराठी अखबार में मुंडे को पहली पुण्यतिथि पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लेख में की है।

निकम ने इस लेख में लिखा है कि तत्कालीन पुलिस आयुक्त ने कहने पर वह मातोश्री पर ठाकरे से मिलने गए थे जहां ठाकरे ने उनसे कहा था कि आरोपी संजय को छुड़ाना है। इस पर उन्होंने ठाकरे को बताया कि अगर संजय को छुड़ाना है तो उससे पहले दस-बारह गुनहगारों को छुड़ाना पड़ेगा। इस बात पर ठाकरे नाराज हो गए थे और तब तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर जोशी ने आदेश का पालन करते हुए उनसे यह केस वापस करके जलगांव लौटने का फरमान जाहिर कर दिया था। यह बात की जानकारी मुंडे को लगी और उन्होंने ठाकरे को समझाने की कोशिश की। लेकिन ठाकरे ने शक जाहिर की कि निकम शरद पवार के आदमी हैं इसलिए वह संजय को छुड़ाने का प्रयास नहीं कर रहे हैं।

इस पर मुंडे ने ठाकरे को बताया था कि निकम पवार के आदमी नहीं हैं बल्कि वह एक ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ वकील हैं और उनका पेशा सिर्फ वकीली करना है। निकम ने लिखा है कि मुंडे के कारण ही वह 1993 के बम धमाके केस से जुड़े रहे और संजय को अदालत ने सजा सुनाई है।

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाल ठाकरे ने संजय दत्त को छुड़ाने के लिए दबाव डाला थाः उज्ज्वल निकम