DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गायब बच्चों को ढूंढ़ने में मदद करेगी खोयापाया वेबसाइट

गायब बच्चों को ढूंढ़ने में मदद करेगी खोयापाया वेबसाइट

केंद्र सरकार ने खोए हुए बच्चों के बारे में जानकारी देने के लिए मंगलवार को नया नेशनल पोर्टल लांच किया है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर लांच की गई इस वेबसाइट पर सीधे जाकर खोए हुए बच्चों के बारे में जानकारी दी जा सकेगी।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी की मौजूदगी इस नए पोर्टल की लांचिंग की गई। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद भी मौजूद थे। नई वेबसाइट का पता http://khoyapaya.gov.in है। इस वेबसाइट का इस्तेमाल करने के लिए साइट पर लॉगिन करना पड़ेगा। इस साइट में तीन खंड है। पहले खंड में किसी बच्चे के गायब होने की जानकारी दी जा सकती है। दूसरे खंड में अगर आपने किसी बच्चे को देखा है तो उसकी जानकारी दे सकते हैं। वहीं तीसरे खंड में गायब हुए बच्चे के बारे में तलाश की जा सकती है।

मेनका गांधी ने इस मौके पर कहा कि अगर किसी के घर से बच्चा गायब हो जाए तो वे बच्चे के बारे में जानकारी और फोटो वेबसाइट पर अपलोड कर सकते हैं। सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ये वेबसाइट प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया की मुहिम का ही हिस्सा है। ये वेबसाइट गरीब वर्ग के गायब हुए बच्चों को ढूंढने में भी काफी कारगर हो सकेगी। इस तकनीक के माध्यम से हम खोए हुए बच्चों को जन सहभागिता से ढूंढ सकेंगे।

खोया-पाया मोबाइल एप
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने खोयापाया का मोबाइल एप भी लांच किया है। इसे गूगल प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है। इसके बाद आप मोबाइल फोन से भी खोए बच्चों के बारे में जानकारी दे सकते हैं।

चाइल्डलाइन
1098 नंबर है देशव्यापी चाइल्डलाइन का।
1996 में चाइल्ड लाइन फाउंडेशन ने लांच किया था इस टोल फ्री नंबर को ।
31 राज्यों के 291 जिलों में ये नंबर काम करता है।
282 आउटलेट हैं चाइल्डलाइन के देश भर में जो बच्चों को करते हैं मदद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गायब बच्चों को ढूंढ़ने में मदद करेगी खोयापाया वेबसाइट